भोपाल :  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अतिवृष्टि के कारण जिन किसानों की फसलें खराब हुई हैं, उनका सर्वे कर हरसंभव सहायता की जाएगी। किसानों के साथ अन्याय नहीं होगा। उन्होंने कहा कि केन बेतवा लिंक परियोजना को स्वीकृत कर छतरपुर जिले के प्रत्येक खेत तक पानी पहुँचाया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान छतरपुर जिले की तहसील बड़ामलहरा के ग्राम लिधौरा में काठन वृहद सिंचाई परियोजना के भूमिपूजन एवं हितग्राही सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर 544 करोड़ रूपए की लागत विकास कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया। जिसमें 394 करोड़ रूपए की काठन सिंचाई परियोजना का भूमिपूजन भी शामिल है। इस परियोजना से 74 गांव के 15 हजार हेक्टेयर में सिंचाई होगी। इस अवसर पर विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को लाभांवित किया गया। जिनमें वन अधिकार पट्टों का वितरण, लाड़ली लक्ष्मी योजना, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, पीएम स्वनिधि योजना के हितग्राही शामिल हैं। 

कार्यक्रम का शुभारंभ कन्या पूजन से हुआ। इस अवसर पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुश्री उमा भारती, लोक निर्माण मंत्री पं. गोपाल भार्गव, सांसद श्री व्ही.डी. शर्मा, नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष श्री प्रद्युम्न सिंह लोधी, विधायकगण सहित जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

हीरा खदानों में 75 प्रतिशत रोजगार बुन्देलखंड के युवाओं को

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि क्षेत्र में विकास के जो कार्य ठप्प हो गए थे, उन्हें पुनः प्रारंभ किया जाएगा। स्थानीय उद्योगों, जिले की हीरों की खदानों में 75 प्रतिशत नौकरियाँ बुंदेलखण्ड के युवाओं को मिलेंगी। उन्होंने कहा कि छतरपुर में मेडिकल कॉलेज का कार्य शुरू किया जाएगा। संबल योजना में गरीबों को लाभ दिलाया जाएगा। किसानों के साथ अब न्याय होगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह ने कहा कि 18 सितम्बर को 20 लाख किसानों के खातों में फसल बीमा 4600 करोड़ की राशि डाली जाएगी, 16 सितम्बर को मध्यप्रदेश के 37 लाख लोगों को 1 रूपए प्रति किलो की दर से गेहूँ मिलना शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आशीर्वाद से छतरपुर जिले के 88 हजार 773 गरीबों को सस्ता राशन मिलना शुरू हो जाएगा। जल-जीवन मिशन के तहत प्रत्येक गांव नलों से पानी मिलेगा।

लिधौरा में स्टेडियम और घुवारा में कॉलेज

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि लिधौरा में स्टेडियम बनेगा, हाईस्कूल का उन्नयन होगा, घुवारा में अगले सत्र से कॉलेज शुरू होगा, भीमकुण्ड पर्यटन स्थल बनेगा, बड़ामलहरा में 100 बिस्तर का अस्पताल उन्नयन होगा।  

कार्यक्रम में पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुश्री उमा भारती ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनमें गम्भीरता, परिपक्वता, सहनशीलता और शालीनता हैं। जितने अच्छे तरीके से वे सरकार चला रहे हैं उतने अच्छे से मैं भी नहीं चला पाती। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एक गृहस्थ संत की तरह लोगों की सेवा कर रहे हैं। पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भर देश के बनाने में मध्यप्रदेश एक मॉडल स्टेट के रूप में कार्य करेगा। यहां सारे संसाधन उपलब्ध हैं। परिश्रम करने वाले लोग हैं। प्राकृतिक संपदा है। अब विकास के मामले में बुंदेलखण्ड पीछे नहीं रहेगा। बांध के बन जाने से सिंचाई परियोजना के पूर्ण होने पर बुंदेलखण्ड की गरीबी दूर होगी। परकेपिटा इनकम के मामले में बुंदेलखण्ड में बढ़ोत्तरी होगी। 

प्रदेश अध्यक्ष श्री व्ही.डी. शर्मा ने कहा कि पूर्व विधायक श्री प्रद्युम्न सिंह लोधी ने क्षेत्र के विकास का जो संकल्प लिया है उसे राज्य सरकार पूरा करेगी। आज 394 करोड़ की काठन वृहद सिंचाई परियोजना का भूमिपूजन हुआ है। इससे विकास के नए रास्ते खुलेंगे। 

लोक निर्माण मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि विकास के मामले में यह क्षेत्र अब पीछे नहीं रहेगा। 2003 के बाद इस क्षेत्र के विकास के लिए लगातार कार्य किए जा रहे है। डाकू समस्या का उन्मूलन हुआ है। क्षेत्र में लोक निर्माण विभाग द्वारा सभी आवश्यक निर्माण कार्य कराए जाएंगे। 

कार्यक्रम में नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष श्री प्रद्युम्न लोधी ने अपने क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं और मांगे मुख्यमंत्री के समक्ष रखीं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि क्षेत्र के विकास की मांगों को पूरा किया जाएगा।