नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लखीमपुर खीरी में हिंसा के दौरान किसानों की मौत को लेकर बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पीड़ितों के परिवारों के लिए न्याय सुनिश्चित करने को कहा। केजरीवाल ने यह भी मांग की कि मामले के आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा को पद से हटाया जाए जिनका बेटा इस घटना में आरोपी है। उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि पूरी व्यवस्था किसानों के हत्यारों को बचाने की कोशिश कर रही है।
  उन्होंने प्रधानमंत्री से सवाल किया कि मामले के संबंध में अब तक किसी को गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया है। उन्होंने प्रधानमंत्री से सवाल किया, ‘‘पिछले एक साल से किसान धरने पर बैठे हैं। अब तक 600 से ज्यादा किसानों की मौत हो चुकी है। फिर किसानों को पहियों के नीचे कुचल कर मार दिया जाता है। किसानों के खिलाफ इतनी नफरत क्यों है?’’ उन्होंने प्रधानमंत्री से मामले में हस्तक्षेप करने और पीड़ितों के परिवार के सदस्यों से मिलने की अपील करते हुए कहा, ‘‘इस देश का हर नागरिक आज किसानों के लिए न्याय की मांग कर रहा है। निर्णय आपके हाथ में है।’’ उन्होंने कहा कि पूरा देश चाहता है कि किसानों की हत्या के आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाए और मिश्रा को उनके मंत्री पद से हटाया जाए। केजरीवाल ने कहा,‘‘प्रधानमंत्री जी, एक तरफ, सरकार आजादी का महोत्सव मना रही है और दूसरी ओर, विपक्षी नेताओं को लखीमपुर जाते समय गिरफ्तार किया जा रहा है। यह किस प्रकार की स्वतंत्रता है? शुरू में राजनीतिक दलों को लखीमपुर खीरी जाने की अनुमति देने से इनकार करने के बाद, उत्तर प्रदेश सरकार ने अब उन्हें जिले का दौरा करने की अनुमति दी है। लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा में मारे गए आठ लोगों में से चार किसान थे, जिन्हें उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के स्वागत के लिए क्षेत्र में आयोजित एक कार्यक्रम में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा चलाए जा रहे वाहनों से कथित तौर पर कुचल दिया गया। प्रदर्शनकारियों द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं और उनके चालक सहित अन्य को वाहनों से कथित तौर पर बाहर निकालकर पीट-पीटकर मार डाला गया। उत्तर प्रदेश पुलिस ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष के खिलाफ मामला दर्ज किया है, लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।