कानपुर एनकाउंटर का आरोपी विकास दुबे पकड़ा जा चुका है. पुलिस उसकी तलाश में कई राज्यों में तलाश कर रही थी. हालांकि विकास दुबे अब पुलिस की गिरफ्त में आ चुका है. वहीं उसके सहयोगियों की भी पुलिस लगातार धरपकड़ कर रही है. इस दौरान बीते दो दिन में पुलिस ने विकास दुबे के तीन साथियों को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है.

कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मुख्य आरोपी विकास मध्य प्रदेश के उज्जैन से पकड़ा गया. पुलिस लगातार कई जगहों पर दबिश दे रही थी. साथ ही लोगों से पूछताछ भी कर रही थी. इस बीच दो दिन में ही विकास दुबे के तीन साथी पुलिस एनकाउंटर में मारे गए हैं.

अमर दुबे

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में पुलिस का बड़ा एक्शन हुआ. हमीरपुर के मौदाहा में मुठभेड़ में पुलिस ने विकास दुबे का दाहिना हाथ माने जाने वाले अमर दुबे को मार गिराया. अमर को विकास दुबे गैंग का शातिर बदमाश माना जाता था. 2 जुलाई की रात कानपुर देहात के बिकरू गांव में शूटआउट के मामले में भी अमर दुबे की तलाश थी. यूपी पुलिस ने जिन अपराधियों की तस्वीरें जारी की थी, उसमें अमर दुबे का नाम सबसे ऊपर था. पुलिस ने उस पर 25 हजार का इनाम भी घोषित किया था.

प्रभात मिश्रा

प्रभात मिश्रा को पुलिस ने फरीदाबाद के होटल से गिरफ्तार किया था. जानकारी के मुताबिक प्रभात पुलिस की कस्टडी से भाग रहा था. इसके बाद एनकाउंटर में प्रभात को मार गिराया गया. आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा कि पुलिस टीम प्रभात को लेकर फरीदाबाद से आ रही थी. रास्ते में गाड़ी पंचर हो गई. इस दौरान प्रभात ने पुलिस का हथियार छीनकर भागने की कोशिश की. इसके बाद हुए एनकाउंटर में प्रभात मारा गया है. इस दौरान कुछ सिपाही घायल हुए.

बउवा दुबे

उत्तर प्रदेश के इटावा में विकास दुबे के करीबी बउवा दुबे को पुलिस ने मार गिराया. पुलिस के मुताबिक, बउवा दुबे ने महेवा के पास हाईवे पर स्विफ्ट डिजायर कार को लूटा था. उसके साथ तीन और बदमाश थे. पुलिस को लूट की जैसे ही खबर मिली, पुलिस ने चारों को सिविल लाइन थाने के काचुरा रोड पर घेर लिया.

पुलिस और बउवा दुबे के बीच फायरिंग शुरू हो गई. इस फायरिंग के दौरान बउवा दुबे को ढेर कर दिया गया. हालांकि, उसके तीन साथी भागने में कामयाब रहे. बउवा दुबे भी कानपुर शूटआउट का आरोपी था.