अभिनेत्री काजोल ने कहा कि निजी जिंदगी में वह हेलीकॉप्टर मॉम नहीं हैं। वह एक ड्रोन की तरह हैं। जो दूर से सब कुछ देखता रहता है। सही वक्त पर मिसाइल छोड़ता है जबकि हेलीकॉप्टर बहुत दिखता है। काजोल ने कहा ''मुझे लगता है कि मां को अपने बच्चों को देखना चाहिए। आजकल की दुनिया बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है। हमें अपने बच्चों के बारे में डर लगा रहता है। अब तो हमारे बच्चे भी काफी स्मार्ट हो गए हैं। काजोल ने कहा कि मेरी मां ना ही हेलीकॉप्टर थीं और ना ही ड्रोन। वह एक साहसी महिला थी। उनमें डर नाम की कोई चीज नहीं थी।
बच्चों को लेकर असुरक्षित महसूस नहीं करती 
काजोल ने कहा कि वह अब अपने बच्चों को लेकर असुरक्षित महसूस नहीं रहतीं। उन्होंने कहा, ''एक वक्त था जब मुझे बहुत परेशानी होती थी। जब मैं फ्लाइट में बैठती थी तो मुझे लगता था कि सिक्योरिटी होनी चाहिए। मैं अपने बच्चों को तैयार कर एयरपोर्ट से निकालती थी पर अब मेरे बच्चे बड़े हो गए हैं। अब मुझे लगता है कि वो कैसे हैंडल कर रहे हैं।''
काजोल ने एक वाकया याद करते हुए कहा- '' बेटी न्यासा ढाई-3 साल की थी हम जयपुर एयरपोर्ट पर अचानक से आ गए थे। उस समय मेरे पास सिक्योरिटी नहीं थी। 20-30 कैमरामैन हमें देखकर आ गए। इस दौरान भीड़ और कैमरे का फ्लैश देखकर न्यासा रोने लगी थी। वह सहम गई थी। तब मैं उसे अंदर लेकर गई। मगर अभी मेरे दोनों बच्चों में समझ आ गई है। इसलिए अब मैं इस बारे में ज्यादा तनाव नहीं लेती।''