रायपुर वर्ल्ड थाई बाक्सिंग फेडरेशन और एशियन थाई बाक्सिंग फेडरेशन के तत्वावधान में थाई बाक्सिंग इंडियन फेडरेशन द्वारा हैदराबाद मे एशियन थाई बाक्सिंग ओपन चैंपियनशिप में छत्तीसगढ़ का परचम लहराया। तीन से पांच दिसंबर को तेलंगाना थाई बाक्सिंग संघ की मेहमाननवाजी में किया स्पर्धा में भारत सहित 12 एशियाई देश के खिलाड़ियों को भाग लेना था लेकिन केवल श्रीलंकाई टीम ही कोविड शर्तो पर खरी उतरी।

मैच में 19 वर्ष बालिका वर्ग में दुर्ग की डोमेश्वरी कौशिक ने 52.56 किलो वर्ग में महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश की खिलाड़ी को हराकर फाइनल में पहुंची और गुजरात की खिलाड़ी को फाइनल में 03 - 00 से परास्त कर स्वर्ण पदक प्राप्त किया। 19 वर्ष 75 किलो फाइट में रायपुर के जागेश्वर डडसेना ने आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र के खिलाड़ी को हराकर फाइनल में तेलंगाना के खिलाड़ी को हराकर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। वहीं दुर्ग के अभिजीत रजक 12-14 वर्ष के 44 किलो वर्ग में फाइनल पहुंचने में कामयाब रहे परंतु फाइनल में महाराष्ट्र के खिलाड़ी से अंकों के आधार पर पराजित होने के कारण रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

दुर्ग के मुख्तानंद साहू 19 वर्ष 52 किलो वर्ग में सेमीफाइनल में तेलंगाना के खिलाड़ी से 3-0 से पराजित हुए और कांस्य पदक प्राप्त किया। उल्लेखनीय है कि इस ओपन चैंपियनशिप में भाग लेने छत्तीसगढ़ का 10 सदस्यीय दल हैदराबाद में है जिसमें छह खिलाड़ी, दो रेफ़री, एक मैनेजर और एक राज्य संघ के पदाधिकारी शामिल हैं।

कल प्राप्त दो रजत पदक मिलाकर आज छत्तीसगढ़ के खिलाड़ियों ने कुल चार और पदक जीत लिए है। राज्य के दो स्वर्ण, तीन रजत और एक कांस्य सहित छह पदक अर्जित कर शानदार प्रदर्शन किया। उल्लेखनीय है कि छह खिलाड़ियों में सभी ने कोई कोई पदक जीता है।