न्यूयार्क । अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि देश के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का हाल में सम्पन्न हुए चुनाव में हार स्वीकार न करना शर्मिंदगी भरा है। बाइडेन ने कहा कि ट्रंप के हार स्वीकार नहीं करने से सत्ता के हस्तांतरण की उनकी योजना पर कोई असर नहीं पड़ेगा। डेलावेयर के विलमिंगटन में बाइडेन ने कहा कि सच कहूं, तो मुझे लगता है कि यह एक शर्मिंदगी भरी हरकत है....इससे राष्ट्रपति की विरासत को सिर्फ नुकसान ही होगा। विश्व के नेताओं के साथ अपनी बातचीत के बाद मुझे इतना पता है कि उन्हें उम्मीद है कि अमेरिका के लोकतांत्रिक संस्थानों को एक बार फिर मजबूत होता देखा जाएगा। 
डेलावेयर में बाइडन ने कहा 20 जनवरी को सारी चीजें ठीक हो जाएंगी और फिर एक उम्मीद यह है कि अमेरिकी लोग समझते हैं कि परिवर्तन हो चुका है। उन्होंने आगे कहा, वह ट्रंप को वोट देने वाले लोगों के नुकसान की भावना को समझते हैं और कहा कि उनमें से अधिकांश देश को एकजुट करना चाहते थे। बाइडेन ने कहा, मुझे लगता है कि वे समझते हैं कि हमें साथ आना होगा। वे एकजुट होने के लिए तैयार हैं और मेरा मानना है कि हम इस देश को इस कड़वी राजनीति से बाहर निकाल सकते हैं जिसे हमने पिछले 4-5 सालों में देखा है।
 राष्ट्रपति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर पूर्व उपराष्ट्रपति ने कहा, मुझे कानूनी कार्रवाई की आवश्यकता नहीं है। स्पष्ट रूप से, मुझे लगता है कि कानूनी कार्रवाई हो रही है, जो आप बाहर देख रहे हैं। जब बाइडेन से यह पूछा गया कि रिपब्लिकन आपकी जीत को स्वीकार करने के लिए अनिच्छुक नजर आ रहे हैं। इस पर बाइडन ने कहा, वे लोग जल्द ही इसे स्वीकार करेंगे। मालूम हो कि अमेरिका में चुनावी नतीजे सामने आने के बाद से ट्रंप लगातार अपनी हार को नकार रहे हैं। इसे लेकर उनकी चौतरफा आलोचना हो रही है।