टोक्यो । टोक्यो पैरालंपिक खेलों में भारत के लिए सोमवार का दिन शानदार रहा भारत को एक स्वर्ण , दो रजत और एक कांस्य पदक मिला है। अवनि लेखरा ने निशानेबाजी में स्वर्ण जीता जबकि देवेंद्र झाझरिया ने भाला फेंक और योगेश कथूनिया ने चक्का फेंक में रजत पदक हासिल किये, सुंदर सिंह को भाला फेंक में कांस्य पदक मिला। अवनि ने महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल निशानेबाजी के क्लास एसएच1 फाइनल में 249.6 अंक हासिल करने के साथ ही विश्व रिकार्ड की बराबरी करते हुए पहला स्थान हासिल किया। उन्होंने चीन की झांग कुइपिंग 248.9 अंक को पीछे छोड़ा। यूक्रेन की इरियाना शेतनिक ने 227.5 अंक लेकर कांस्य पदक अपने नाम किया। भारत का पैरालंपिक खेलों में निशानेबाजी प्रतियोगिता में यह पहला स्वर्ण पदक है। अवनि निशानेबाजी में स्वर्ण जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी  बनी हैं। 
वहीं भाला फेंक में भारत के झाझरिया ने रजत जबकि सुंदर ने कांस्य पदक जीता है। स्वर्ण पदक श्रीलंका के मुदियनसेलेज हेराथ को मिला है। हेराथ ने 67.79 मीटर तक भाला फेंका ,  झाझरिया ने 64.35 मीटर और सुंदर ने 64.01 मीटर भाला फेंका। इसी के साथ ही अब तक इन खेलों में भारतीय खिलाड़ियों ने सात पदक जीत लिए हैं। पैरालंपिक खेलों में झाझरिया ने तीसरी बार पदक जीतकर हैट्रिक बनायी है। इससे पहले  एथेंस ओलंपिक 2004 और रियो ओलंपिक 2016 में उन्होंने स्वर्ण पदक जीते थे।
योगेश ने पैरालंपिक खेलों में पुरुषों की चक्का फेंक स्पर्धा के एफ56 वर्ग में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए रजत पदक अपने नाम किया है। योगेश ने अपने छठे और अंतिम प्रयास में 44.38 मीटर चक्का फेंककर दूसरा स्थान हासिल किया। इस प्रकार योगेश पैरालंपिक खेलों में चक्का फेंक रजत पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने हैं। ब्राजील के बतिस्ता डोस सांतोस ने 45.59 मीटर के साथ स्वर्ण जबकि क्यूबा के लियानार्डो डियाज अलडाना ने 43.36 मीटर के साथ कांस्य अपने नाम किया।