नई दिल्ली । भारतीय फुटबॉल टीम के मौजूदा सहायक कोच वेंकटेश शानमुगम ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में ज्यादा मौके और बेहतर सुविधाएं मिलने से टीम का प्रदर्शन पहले से बेहतर हुआ है। भारतीय टीम 2015 में फीफा विश्व रैंकिंग में 173वें स्थान पर थी पर शानदार प्रदर्शन के बल पर इस साल शीर्ष 100 में जगह बनाने में सफल रही। टीम की मौजूदा रैंकिंग 101 है। भारतीय टीम पहली बार एएफसी एशियाई कप के नाक आउट दौर में जगह बनाने के करीब पहुंच गयी थी हालांकि अंतिम क्षणों में बहरीन के हाथों मिली हार से उसे बाहर होना पड़ा। पिछले चार वर्षों में भारतीय टीम ने चीन, जोर्डन, ओमान, प्यूर्तो रिको, सेंट किट्स एवं नेविस, न्यूजीलैंड, कीनिया जैसी बेहतर टीमों के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया है। इससे टीम को आने वाले मुकाबलों में सहायता मिलेगी। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ एक फुटबॉलर के तौर पर ऐसे प्रतिस्पर्धी मैचों से आपको विभिन्न परिस्थितियों से निपटने की सीख मिलती है। इसलिए जब आप बड़े टूर्नामेंट में खेलते है तो आप हार नहीं मानते। ’’ साथ ही कहा कि अब  खिलाड़ियों को पहले से ज्यादा सुविधाएं मिल रही है जिससे उनके खेल में काफी सुधार आया है। उन्होंने कहा, ‘‘ लगभग 15 साल पहले ऐसा नहीं था, खिलाड़ियों के पास ऐसी सुविधाएं नहीं थी जिससे खेल के स्तर को सुधारा जा सके पर अब फुटबालरों को विश्व स्तरीय सुविधाएं मिलीं हुई हैं। ’’