नई दिल्ली । युवा कार्यक्रम और खेलमंत्री अनुराग ठाकुर ने भारतीय एथलीटों और 2021 के विश्व अंडर 20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप के पदक विजेताओं से बातचीत की। मोई इंटरनेशनल स्पोर्ट्स सेंटर नैरोबी, केन्या में 18 से 22 अगस्त, को संपन्न चैंपियनशिप में भारत ने दो रजत पदकों सहित तीन पदक जीते। इस चैंपियनशिप को वर्ल्ड जूनियर चैंपियनशिप के नाम से भी जाना जाता है। लॉन्ग जंप कोच रॉबर्ट बॉबी जॉर्ज, अंजू बॉबी जॉर्ज, कमाल अली खान, साई के महानिदेशक भी उपस्थित थे।
खेलमंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने नई दिल्ली में विश्व युवा चैंपियनशिप के एथलीटों के साथ बातचीत में पदक विजेताओं को बधाई दी और कहा कि भारत के अंडर 20 एथलेटिक्स चैंपियनों ने देश को गौरवान्वित किया है। 
खेलमंत्री कहा कि “यह हमारे लिए प्रसन्नता का एक बड़ा महत्वपूर्ण क्षण है। अनुराग ठाकुर ने विश्वास व्यक्त किया कि युवा एथलीट एशियाई खेलों, राष्ट्रमंडल खेलों और ओलंपिक खेलों जैसी भविष्य की अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में उत्कृष्टता हासिल करेंगे। मंत्री ने कहा, “हम आपको आशा भरी नजरों से देखते हैं। खेलमंत्री ने कोविड-19 महामारी से उत्पन्न स्थिति में एथलीटों, फेडरेशन और कोचों के अच्छे प्रदर्शन के प्रयासों और पदक जीतने की सराहना की। खेल मंत्री ने कहा "कोविड-19 की चुनौती के बीच आपका उत्कृष्ट प्रदर्शन सराहनीय है। ये आसान समय नहीं था, ये सामान्य समय नहीं था।“उन्होंने एथलीटों को प्रोत्साहित किया कि बड़ा सोचें, भविष्य के लिए योजना बनाएं और अगले स्तर की प्रतियोगिता की तैयारी करें। अनुराग ठाकुर ने कहा कि महत्वपूर्ण बात यह है कि आज भारत में विभिन्न खेल प्रतिस्पर्धाओं के लिए बड़ी संख्या में उभरते हुए खिलाड़ी हैं और सरकार युवा एथलीटों को विकसित करने तथा उन्हें पोडियम फिनिश की ओर ले जाने पर विशेष ध्यान केंद्रित कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार एथलीटों को अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सभी सुविधाएं और सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण सुनिश्चित करेगी और इस दिशा में टॉप्स के साथ-साथ विशिष्ट वर्ग के एथलीटों के प्रशिक्षण को भी शामिल किया गया है। पूर्व एथलीटों के कोचिंग के क्षेत्र में आने की सराहना करते हुए खेल मंत्री ने ऐसे और अधिक एथलीटों से युवा एथलीटों के साथ सहयोग करने और उन्हें प्रेरित करने के लिए आगे आने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि हम नए विचारों और सुझावों के प्रति खुली सोच रखते हैं। खेलमंत्री ने कहा कि जब हम मिलकर काम करते हैं तो हम एक मजबूत खेल संस्कृति के साथ-साथ भविष्य का निर्माण कर सकते हैं।