अंडा
अंडे को प्रोटीन का बेस्ट स्त्रोत माना जाता है। इसमें प्रोटीन की उचित मात्रा होने के साथ विटामिन, एंटी-ऑक्सीडेंट गुम भी पाएं जाते हैं। ऐसे में यह आंखों की सेहत का भी अच्छे से ख्याल रखता है। आप इसे रोजाना अपनी डाइट उबले अंडे, आमलेट, तले हुए अंडे या शेक के तौर पर शमिल कर सकते हैं। 

ग्रीक दही
दही खाने में टेस्टी होने के साथ सभी उचित तत्वों से भरा होता है। सादे की जगह ग्रीक दही का सेवन करने से प्रोटीन की कमी पूरी होने में मदद मिलती है। आप इका टेस्ट बढ़ाने के लिए इसमें नमक, शहद और ड्राई फ्रूट्स डालकर सेवन कर सकते है। 

ड्राई फ्रूट्स और बीज
काजू, पिस्ता,अखरोट, किशमिश आदि सूखे मेवे और अलसी, सूरजमूखी, चिया के बीजों में प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल गुण होते है। ऐसे में इन्हें शाम के समय भूख लगने पर खाना बेस्ट ऑप्शन है। इससे पेट भरने के साथ वजन कंट्रोेल में रहने में मदद मिलती है। साथ ही बीमारियों के लगने का खतरा कई गुणा कम होता है। मगर इसके इसमें कैलोरी अधिक मात्रा में होने से इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। 

मसूर की दाल
मसूर की दाल हाई प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है। इसमें प्रोटीन के साथ विटामिन, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, फोलेट, मैंगनीज, फॉस्फोरस, पोटेशियम आदि तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं। इसके सेवन से पाचन तंत्र मजबूत होने के साथ ब्लड प्रेशर और डायबिटीज कंट्रोल में रहने में मदद मिलती है।

बादाम
रोजाना 1 मुट्ठी भीगे हुए बादाम खाने से प्रोटीन की कमी पूरी होती है। यह एक हैल्दी स्नैक के तौर पर खाया जा सकता है। इसके सेवन से पेट काफी समय तक भरा रहता है। ऐसे में वजन कंट्रोल में रहता है। इसमें प्रोटीन के साथ विटामिन, फाइबर, एंटी-ऑक्सीडेंट, अनसैचुरेटेड फैटी एसिड उचित मात्रा में मौजूद हैं। ऐसे में इसके सेवन से ब्लड प्रेशर, शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। दिल से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा कम रहता है। 

ओट्स
ओट्स में सभी जरूरी तत्वों के साथ प्रोटीन भी भारी मात्रा में मौजूद होता है। आप इसे फलों या सब्जियों में मिलाकर खा सकते हैं। इसके सेवन से शरीर को सही मात्रा में प्रोटीन मिलने के साथ ऊर्जा मिलती है। ऐसे में बीमारियों से बचाव रहता है।

दूध
डेयरी प्रोडक्ट दूध में कैल्शियम के साथ प्रोटीन भी भारी मात्रा में मिलता है। रोजाना 1-2 गिलास दूध पीने से हड्डियां और मांसपेशियों में मजबूती आती है। साथ ही इसके सेवन से पेट लंबे समय तक भरा रहता है। ऐसे में ओवर ईटिंग की परेशानी से राहत मिलती है। साथ ही वजन कंट्रोल में रहता है।