नई दिल्ली । उत्तर प्रदेश में नए स्मार्ट बिजली मीटर उपभोक्ताओं को बड़ा झटका दे रहे है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर सवाल उठाए हैं। प्रियंका गांधी ने कहा कि अगर बिजली मीटर स्मार्ट हैं तो गलत कमांड के कारण जन्माष्टमी के दिन घरों में अंधेरा क्यों छा गया। प्रियंका गांधी का यह आरोप भी है कि यूपी में स्मार्ट मीटर की वजह से यूपी में कई लोगों के चार गुना बिल आए हैं। प्रियंका गांधी ने एक ट्वीट में लिखा, 'बिजली मीटर स्मार्ट हैं क्या? जन्माष्टमी के दिन स्मार्ट मीटरों में गलत कमांड ने लाखों घरों को अंधेरे में रखा। खबरों के अनुसार, इन स्मार्ट मीटरों की वजह से बहुत लोगों के बिल चार गुना आए हैं। यूपी सरकार स्मार्ट मीटर के नाम पर शोषण बंद करे और जांच कराकर नुकसान की भरपाई करे'। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पिछले कई महीनों से योगी सरकार को निशाने पर लेती रही हैं। आपराधिक घटनाओं और कोरोना को लेकर उन्होंने कई बार यूपी सरकार को कठघरे में खड़ा किया है। बिजली बिल को लेकर अभी हाल में प्रियंका गांधी ने एक ट्वीट में लिखा, जनता कहती है- यूपी में बिजली की दरें कंपनियों के फायदे के लिए बढ़ाई गई हैं। यूपी राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद की तरफ से घरेलू फिक्स्ड चार्ज और कॉमर्शियल न्यूनतम चार्ज खत्म करने और किसानों के लिए बिजली दरों में कमी किए जाने की मांग एकदम जायज है। सरकार को इसपर विचार करना चाहिए।
बुलंदशहर में सुदीक्षा भाटी की मौत का मामला भी प्रियंका गांधी ने मजबूती से उठाया है। उन्होंने इस बारे में एक ट्वीट में लिखा, सुदीक्षा की ये भावनात्मक स्पीच सुनिए। यूपी की इस बेटी का कहना था कि उसकी उम्र की बहुत सारी लड़कियों को छेड़खानी के चलते पढ़ाई छोड़नी पड़ती है। आज इसी समस्या ने सुदीक्षा की जान ले ली। सरकार पूछेगी समस्या का हल कहां है? समस्या का हल बेटियों की आवाज में है? लेकिन आप सुनिए तो। कुछ दिन पहले सुदीक्षा की रोड एक्सीडेंट में मौत हो गई थी। पुलिस मामला दर्ज कर जांच में लगी है। पुलिस की जांच के मुताबिक ये महज एक हादसा था, छेड़छाड़ की वारदात नहीं हुई थी। पुलिस ने कई सीसीटीवी फुटेज जुटाए हैं जिससे पता चलता है कि ये सिर्फ एक दुर्घटना थी।