गरियाबंद :  छत्तीसगढ़ शासन के गृह, लोक निर्माण, जेल, धार्मिक न्यास, पर्यटन एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने आज दोपहर जिले में चल रहे विकास कार्यो की समीक्षा वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से की। प्रभारी मंत्री ने जिले में कोविड की स्थिति की समीक्षा करते हुए प्रतिदिन जांच में तेजी लाने के निर्देश दिये है। उन्होंने समस्त विभागीय योजनाओं का क्रियान्वयन गुणवत्तापूर्ण, समय-सीमा और अनुशासित तरीके के निर्देश दिये है। वीडियो काॅन्फ्रेसिंग में जिले के एनआईसी कक्ष में कलेक्टर श्री छतर सिंह डेहरे, पुलिस अधीक्षक श्री बी.आर. पटेल, जिला पंचायत सीईओ श्री विनय कुमाल लंगेह, वन मण्डलाधिकारी श्री मयंक अग्रवाल व एडीएम श्री जे.आर. चाारसिया मौजूद थे।

प्रभारी मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने विभागीय योजनाओं की व्यापक समीक्षा की और आवश्यक निर्देश दिये। श्री साहू ने कहा कि गोधन न्याय योजना शासन की महत्वपूर्ण योजना है। यह ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देने वाला योजना है, इसलिए गोबर खरीदी और उसके भुगतान पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि अपूर्ण गौठानों को भी पूर्ण करने की दिशा में कार्य करने की आवश्यकता है। कलेक्टर श्री छतर सिंह डेहरे ने योजनाओं की प्रगति की जानकारी दी। जिला पंचायत सीईओ श्री लंगेह ने बताया कि ग्राम सुराजी योजना अंतर्गत फेस-2 में 43 गौठानों का कार्य पूर्ण हो गया है। वहीं गोधन न्याय योजना अंतर्गत 16 से 21 अगस्त तक खरीदे गये गोबर का भुगतान 7 सितम्बर को किया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण के चारागाह का निर्माण भी पूर्ण हो गया है। मनरेगा अंतर्गत 184 धान खरीदी चबूतरों का निर्माण भी पूर्ण हो गया है। वन विभाग की समीक्षा में प्रभारी मंत्री ने वन क्षेत्रों में गौठान निर्माण के लिए बोर और सोलर के माध्यम से पानी की सुविधा उपलब्ध कराने प्रस्ताव भेजने कहा है। उन्होंने कहा कि वन क्षेत्र में गौठान प्राकृतिक रहे। डीएफओ श्री अग्रवाल ने बताया कि नरवा योजना अंतर्गत 5 वाटर शेड अंतर्गत 22 नालों का उपचार किया गया है। वर्तमान में 20 गौठान वन क्षेत्रों में संचालित है। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में प्रभारी मंत्री ने कोविड केयर सेंटर में पानी की व्यवस्था तत्काल करने के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में टेस्टिंग का दायरा बढ़ाया जाए। सेक्टर और जोन का गठन कर संबंधित अधिकारियों को जिम्मेदारी दी जाए। सीएमएचओ ने बताया कि अभी तक 8 हजार 698 सैम्पल लिए गये है, जिनमें 357 मरीज धनात्मक पाये गये है। 241 व्यक्ति ठीक हुए है। वर्तमान में 112 एक्टिव केस है। उन्होंने बताया कि स्थानीय पाॅलिटेक्निक को आईसोलेशन सेंटर बनाया गया है तथा 300 बिस्तर का कोविड केयर सेंटर स्थापित किया जा रहा है। महिला बाल विकास की समीक्षा में राष्ट्रीय पोषण माह और कन्टेनमेंट जोन से मुक्त आंगनबाड़ी केन्द्रों को प्रारंभ करने के सबंध में निर्देश दिये गये। प्रभारी मंत्री श्री साहू ने खाद्य विभाग की समीक्षा में उपार्जन केन्द्रों से संग्रहण केन्द्र तक धान परिवहन, नये धान खरीदी उपकेन्द्र खोलने प्रस्ताव और आगामी सत्र के लिए बारदाना का भौतिक सत्यापन करने के संबंध में समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिन प्रवासी मजदूरों का राशन कार्ड नहीं बना है, उनका तत्काल राशन कार्ड बनवाये। अपर कलेक्टर श्री चाैरसिया ने बताया कि उपार्जन केन्द्र से संग्रहण केन्द्र तक शत प्रतिशत धान का संग्रहण किया जा चुका है। श्री साहू ने लोक निर्माण विभाग को सड़कों का मरम्मत करने और बरसात में खराब होने वाले ऐसे सड़कों, जिनमें स्कुली बच्चों का आना-जाना हो, का मरम्मत तथा रख-रखाव करने के निर्देश दिये। उन्होंने अगले सत्र के लिए बजट प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिये हैं। शिक्षा विभाग में पढ़ई तुहंर दुआर और मोहल्ला जैसे कार्यक्रमों को जारी रखने के निर्देश दिये गये। आदिवासी विकास विभाग की समीक्षा में छात्राओं के हाॅस्टल में महिला कर्मचारियों की नियुक्ति करने तथा महिला अधिकारियों द्वारा ही आकस्मिक जांच करने के निर्देश दिये गये। साथ ही उन छात्रावासों में महिला नगर सैनिक की तैनाती करने के निर्देश भी दिये गये है। कृषि विभाग की समीक्षा में वर्तमान में आये बाढ़ से संभावित फसल नुकसान का आंकलन करने के निर्देश दिए गये हैं। जल संसाधन विभाग को अधूरे योजनाओं की समीक्षा कर आगामी बजट में शामिल करने प्रस्ताव देने कहा गया है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा में बताया गया कि देवभोग के सुपेबेड़ा में 6 आर.ओ प्लांट के माध्यम से निरंतर स्वच्छ पेयजल दिया जा रहा है। वहीं तेल नदी से पानी की सप्लाई आगामी अक्टूबर माह में शुरू हो जायेगी। सहकारी बैंक अंतर्गत प्रभारी मंत्री ने कहा कि चूंकि नई समितियों का परिसीमन चल रहा है, इसलिए धान उपार्जन केन्द्र और नये समिति के संबंध में संभावनाओं पर नजर रखे। नये ब्रांच खोलने के संबंध में भी प्रस्ताव देवे। खनिज विभाग को अवैध उत्खनन पर लगातार कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये है। वीडियो काॅन्फ्रेसिंग में पुलिस अधीक्षक श्री बी.आर. पटेल द्वारा जानकारी दी गई कि आमजन के मन में विश्वास पैदा करने के उद्देश्य से पुलिस विभाग द्वारा अनेक कार्यक्रम चलाये जा रहे है। प्रभारी मंत्री ने सट्टा, जुआ और नशा की रोकथाम के लिए निरंतर कार्यवाही करने भी कहा है। वीडियो काॅन्फ्रसिंग में विद्युत, मत्स्य, उद्यानिकी, आबकारी, पशुपालन एवं अन्य विभागो की समीक्षा कर निर्देश दिये गये।