नई दिल्ली ।  भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने कहा है कि हाल के कुछ वर्षों के अंदर महिला हॉकी के क्षेत्र में भारी बदलाव आये हैं। कई युवा खिलाड़ी इसमें सामने आ रहीं हैं जो काफी प्रतिभाशाली भी हैं। इससे हॉकी का भविष्य उज्जवल हुआ है।  रानी ने युवा खिलाड़ियों की तारीफ करते हुए कहा, 'महिला हॉकी के आगे बढ़ने और विकास से उन खिलाड़ियों के लिए नए रास्त खुल गए हैं, जो इस खेल को पेशेवर स्तर पर खेलना चाहती हैं।'
रानी ने कहा कि पिछले महीने के मलयेशिया दौर से टीम को कापफी फायदा हुआ। साथ ही कहा कि यह अनुभव आने वाले समय में उनकी टीम के बहुत काम आएगा। रानी ने कहा, 'मैं यह देखकर खुश हुई कि मेरी टीम ने दौरे पर कितने मैच जीते। हमारे कोच ने हर कदम पर खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया और टीम को जीत तक लेकर गए। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलने से टीम ने बहुत कुछ सीखा। यह दौरा शानदार अनुभव रहा और इससे हमारे खेल का स्तर और ऊंचा हुआ।' हॉकी में अब तक के अपने सफर पर रानी ने कहा, 'मुझे हमेशा से हॉकी खेलना पसंद था पर मैंने कभी यह नहीं सोचा था कि मुझे भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलेगा और मैं इतना अच्छा करियर बना पऊंगी। मैंने 14 साल की उम्र में पेशेवर हॉकी खेलना शुरू किया था। तब से लेकर अब तक जितनी भी बार मैंने अपने देश को गौरवान्वित किया है, वह मेरे लिए विशेष क्षण रहा है।'