हमारा हिन्दू धर्म अम्न्यताओ से भरा हुआ है| हम सबको ही पता है कि हिंदू धर्म एक सनातन धर्म भी है। इस धर्म की अपनी ही मान्यताएं हैं। इस धर्म में हर बात का अपना एक अलग महत्व होता है और हमारे हिन्दू धर्म में पूजा के समय नारियल चढाने का भी बड़ा महत्व होता है| इसे हमेशा से ही शुभ माना जाता है| पूजा के नारियल के खराब होने का अपना ही एक अर्थ होता है।नारियल को हर शुभ काम करने के लिए शुभ मानते हैं। उससे सारे काम शुभ तरीके से हो जाते हैं। नारियल को मां लक्ष्मी का भी प्रतीक माना जाता है। ऐसा भी कहा जाता है कि हर पूजा में नारियल का होना बहुत जरूरी है इससे मां लक्ष्मी खुश हो जाती हैं।

नवरात्रों में भी लोग माता रानी को प्रसाद में नारियल चढ़ाते हैं। ऐसा कई बार देखा गया है कि जो नारियल आप पूजा में माता के सामने चढ़ाते हैं वह अंदर से खराब निकलता है। और आपको यह बिल्कुल अच्छा नहीं लगता है कि नारियल खराब निकला है। क्या कभी आपके साथ भी ऐसा हुआ है कि आपने जो नारियल भगवान् जी की पूजा में चढ़ाया था वो अंदर में खराब निकल गया हो। ऐसा आपके साथ कभी न कभी तो जरूर हुआ होगा और जब हुआ होगा तो आपको दुकानदार पर गुस्सा जरूर आया होगा और आपके मन में ये ख्याल आया होगा की ये तो अशुभ हो गया, भगवान नाराज हो गए या कोई हादसा तो नही होने वाला है ऐसी जैसी कई बाते है जो आपके मन में घूमने लग जाती है।

लेकिन ये सब सिर्फ आपका भ्रम है आज हम आपको बता दे कि जब भी आपका पूजा का नारियल खराब नकल जाये तो ये आपके लिए शुभ माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि इसमें भी भगवान जी आपको कुछ संकेत दे रहे हैं। आज हम आपको इन्ही संकेतों के बारे में बताएंगे। ये तो आप जानते ही है की नारियल को मां लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है। उनकी पूजा में नारियल का होना जरूरी होता है।पूजा में चढ़ाया नारियल अगर खराब निकल जाए तो इसका मतलब ये नहीं कि कुछ अशुभ होने वाला है, बल्कि नारियल का खराब निकलना शुभ होता है।

ऐसा माना जाता है कि नारियल फोड़ते समय खराब निकल जाए तो भगवान ने इसे प्रसाद ग्रहण कर लिया है, और यही वजह होती है कि नारियल अंदर से पूरी तरह से सुख चूका है|

नारियल के खराब होने का यह भी संकेत होता है कि आपकी जो भी मनोकामना है वह जल्द ही पूरी होनी वाली है। यही नहीं ये मनोकामना पूर्ण होने का भी संकेत देता है। और इस समय आप भगवान के सामने अपनी जो भी इच्छाएं जाहिर करेंगे वो जरूर पूरी होती है।  वहीं अगर जब भी पूजा का नारियल सही निकलता है तो उस प्रसाद को अपने पास नहीं रखना चाहिए और उसे सब में प्रसाद की तरह बांट देना चाहिए। ऐसा करने से पूजा का फल सबको मिल जाता है। और हमारी पूजा सफल भी हो जाती है|