वास्तु के अनुसार जिस घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है, वहां सुख-समृद्धि की कमी नहीं होती। परंतु ये ऊर्जा घर में आती कैसे है? इस बारे में लोग नहीं जान पात। तो चलिए आपको बताते हैं कि घर व जीवन में पॉजिटिव एनर्जी कैसे व कहां से आती है। दरअसल वास्तु नामक शास्त्र में इससे जुड़ी तमाम जानकारी दी गई है। इसके अनुसार घर की कुछ चीज़ों की वजह से हमारे जीवन में नैगेटिविटी पैदा करती है। अगर समय रहते इन चीज़ों का सुधार लिया जाए तो घर में नकारात्मक ऊर्जा का वास नहीं होता। साथ ही साथ घर-परिवार के सदस्यों के जीवन की तमाम परेशानियां खत्म हो जाती हैं। तो आइए जानते हैं वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में नकारात्मक ऊर्जा के चलते जीवन में कौन सी समस्या आती है तथा इससे बचने के लिए क्या उपाय करने चाहिए।

घर की सुख-शांति प्रभावित होती है।
परिवार के सदस्यों में वाद विवाद होने लगते हैं।
घर के सदस्यों को रोग जकड़ने लगते हैं।
जमा पूंजी अचानक नष्ट होने लगती है।
दांपत्य जीवन में कलह और तनाव आने लगता है।
वरिष्ठ सदस्यों के सम्मान में कमी होने लगती है।
बच्चे आपस में अधिक लड़ने-झगड़ने लगते हैं।

उपाय-
वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में नकारात्मक ऊर्जा को रोकने के लिए कुछ प्रभावी करने चाहिए। इनका पालन करने से नकारात्मक ऊर्जा को घर से दूर किया जा सकता है।

सोने से पहले गंदे बर्तनों को धोकर रखें।
सुबह और शाम घर में पूजा करें।
घर में साफ सफाई और स्वच्छता के नियमों का पालन करें।
अधिकतर रूप से हनुमान चालीसा या सुदंरकांड का पाठ करें।
शुक्रवार की शाम घर के मुख्य द्वार पर घी का दीपक जलाकर रखें।
सप्ताह में एक बार घर में नमक का पोंछा जरूर लगाएं।
घर में किसी प्रकार का कूडा करकट जमा न करें।