बेंगलुरू । भारतीय हॉकी टीम के पूर्व सहायक कोच रमेश परमेश्वरन ने खेल प्रशिक्षकों को दिए जाने वाले सर्वोच्च सम्मान द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिए आवेदन किया है। परमेश्वरन ने कर्नाटक हॉकी संघ के जरिए इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए आवेदन किया है। परमेश्वरन ने कहा कि मेरे लिए जूनियर खिलाड़ी से लेकर राष्ट्रीय कोच बनने तक लंबी, शानदार और संतोषजनक यात्रा रही। मेरे जीवन में भी उतार चढ़ाव आए, हार और जीत मिली पर कुल मिलाकर यह मेरे पास सबसे अच्छा अनुभव है। परमेश्वरन साल 2015 से ही कर्नाटक हॉकी अकादमी में कोच हैं इसमें वह युवा खिलाडिय़ों को निखार रहे हैं। द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिये आवेदन करने के समर्थन में कई दिग्गज खिलाड़ी भी हैं। 1980 की ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता रही भारतीय टीम के कप्तान वासुदेवन भास्करन, पूर्व राष्ट्रीय कोच एमके कौशिक, दिलीप टिर्की, आशीष बलाल सहित कई खिलाड़ियों ने परमेश्वरन की दावेदारी का समर्थन किया है।  वहीं हॉकी इंडिया ने बी जे करियप्पा और रोमेश पठानिया के नाम की सिफारिश द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिए की है।