नई दिल्ली । भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केन्द्र/ क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केन्द्र, नई दिल्ली के अनुसार अच्छी तरह से चिन्हित कम दबाव का क्षेत्र पश्चिम की ओर बढ़ गया है और अब उत्तर-पश्चिम में और आस-पास के उत्तरी पूर्वी अरब सागर से सटे हुए क्षेत्र के ऊपर स्थित है इससे गुजरात राज्य में बारिश की गतिविधि कम हो गई है। मानसून गर्त अपनी सामान्य स्थिति के निकट है और लगातार सक्रिय है। मजबूत दक्षिण पश्चिमी/ पश्चिमी मानसून अरब सागर और इसके साथ-साथ पश्चिमी तट पर मौजूद हैं। इसके नि‍चले ट्रोपोस्फेरिक स्तरों पर अगले दो दिन जारी रहने की संभावना है। इसके प्रभाव में केरल और माहे में अगले 24 घंटों के दौरान कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ छिट-पुट बहुत भारी बारिश जारी रहने तथा अगले 24 घंटों के दौरान कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।
तटीय और दक्षिणी अंदरुनी कर्नाटक और तमिलनाडु में अगले दो – तीन दिन के दौरान कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। दक्षिणी अंदरुनी और तटीय कर्नाटक और तमिलनाडु के घाट क्षेत्रों में अगले 24 घंटों के दौरान कहीं-कहीं बहुत तेज बारिश होने की संभावना।