कराची । पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अनुसार यात्रा संबंधी पाबंदियों के कारण अभी तेज गेंदबाज हसन अली को पीठ दर्द के इलाज के लिए विदेश भेजना संभव नहीं है। हसन पिछले काफी समय से पीठ दर्द से परेशान चल रहे हैं। पीसीबी के मेडिकल बोर्ड के प्रमुख डॉ. सोहेल सलीम ने कहा कि बोर्ड ने ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के विशेषज्ञों से सलाह करने के बाद हसन के बारे में पूछा है। यात्रा प्रतिबंध समाप्त होने पर हसन को भेजने का निर्णय लिया जाएगा। हसन पीठ दर्द उभरने के कारण ही पिछले साल इंग्लैंड में हुए विश्व कप के बाद से ही नहीं खेल पाये है। 25 साल के हसन ने हालांकि फरवरी में पाकिस्तान सुपर लीग के कुछ मुकाबले खेले थे। इस दौरान फिर से उनके पीठ में दर्द होने लगा। पिछले साल सितंबर में भी हसन ने पीठ दर्द की शिकायत की थी और कहा था कि उन्हें अब इसके लिए स्थायी उपचार की जरूरत है। वहीं डॉ. सलीम ने कहा, ‘रिहैब और थेरेपी दर्द कम करने का एक विकल्प है पर स्थायी इलाज सर्जरी से संभव होगा।