अहमदाबाद, 10 जुलाई (भाषा) गुजरात के गांधीनगर जिले के एक गांव में कोविड-19 महामारी के कारण लागू प्रतिबंधों के बावजूद शुक्रवार को एक धार्मिक कार्यक्रम और जुलुस का आयोजन करने पर पुलिस ने 21 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आयोजन की सूचना मिलने पर पुलिस ने पलियाद गांव पहुंच कर बीच रास्ते में ही आयोजन रुकवाया और बाद में आयोजकों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर किसी भी प्रकार के सामूहिक आयोजन पर पाबंदी के आदेश का उल्लंघन करने पर आयोजकों के

 

अहमदाबाद, 10 जुलाई (भाषा) गुजरात के गांधीनगर जिले के एक गांव में कोविड-19 महामारी के कारण लागू प्रतिबंधों के बावजूद शुक्रवार को एक धार्मिक कार्यक्रम और जुलुस का आयोजन करने पर पुलिस ने 21 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आयोजन की सूचना मिलने पर पुलिस ने पलियाद गांव पहुंच कर बीच रास्ते में ही आयोजन रुकवाया और बाद में आयोजकों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर किसी भी प्रकार के सामूहिक आयोजन पर पाबंदी के आदेश का उल्लंघन करने पर आयोजकों के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया गया। कलोल तालुका डिवीजन के पुलिस उपाधीक्षक वी एन सोलंकी ने कहा, “आरोपियों पर आपदा प्रबंधन कानून के तहत भी मामला दर्ज किया गया और उन्हें कोरोना वायरस जांच के लिए भेज दिया गया है।” उन्होंने कहा, “सामूहिक आयोजनों पर पाबंदी के बावजूद पलियाद गांव के कुछ लोगों ने एक मंदिर के परिसर में धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया और उसमें ग्रामीणों को भाग लेने के लिए आमंत्रित किया। हमें यह भी जानकारी मिली कि जुलुस में हाथी को भी शामिल किया गया।” गांधीनगर के जिला कलक्टर कुलदीप आर्य ने कहा कि धार्मिक आयोजन में भाग लेने के लिए गांव में ढाई हजार की संख्या में लोग एकत्र हुए थे।