बिलासपुर । गुरुवार का दिन बिलासपुरवासियों के लिए यादगार बनने वाला है। वर्ष 1971 के भारत पाक युद्ध के नायकों की याद में निकाली जा रही स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा शुक्रवार को बिलासपुर पहुंचेगी। गुस्र्वार को रायपुर से यह यात्रा बिलासपुर जिले की सीमा में प्रवेश करेगी। सुबह के वक्त भोजपुरी स्थित टोल प्लाजा में यात्रा का आतिशी स्वागत किया जाएगा। भूतपूर्व सैनिक परंपरागत तरीके से विजय मशाल यात्रा का स्वागत करेंगे।

भोजपुरी टोल प्लाजा में स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा का आतिशी स्वागत के बाद रैली की शक्ल में बिलासपुर के लिए कूच करेगी। यात्रा की अगवाई भूतपूर्व सैनिकों का संगठन सिपाही करेगा। सुबह नौ बजे भोजपुरी टोल प्लाजा से मशाल यात्रा का काफिला बिलासपुर की सीमा में प्रवेश करते हुए सुबह 10 बजे युद्ध स्मारक अमर जवान सीएमडी चौक पहुंचेगा। यहां मशाल यात्रा की अगवानी भूतपूर्व सैनिकों के अलावा शहरवासी गणमान्य लोग करेंगे।

युद्ध स्मारक में सभी सैनिक तथा अर्धसैनिक (भारतीय सेना, सीआरपीएफ, आरपीएफ, पुलिस ) बलों द्वारा बैंड के साथ सलामी दी जाएगी। यहां पर सभी आमंत्रित अतिथि, एनसीसी एनएसएस, स्काउट, सभी स्कूलों के बच्चे, सामाजिक संगठन और शहरवासियों की मौजूदगी रहेगी। यहां पर सम्मिलित रूप से नागरिक शपथ का कार्यक्रम सेना के जवानों और पूर्व सैनिकों के साथ होगा। युद्ध स्मारक से स्वर्णिम विजय मशाल रैली स्व. लखीराम अग्रवाल सभा गृह तक जाएगी। दोपहर 2:30 बजे स्व. लखीराम अग्रवाल सभागृह में आयोजित कार्यक्रम मे अतिथियों, सामाजिक प्रतिनिधियों एवं पूर्व सैनिकों के लिए बैठने की व्यवस्था की गई है।

सभागृह में 1971 के नायकों के लिए एवं पूर्व सैनिकों के लिए अलग से स्थान आरक्षित रखा गया है। सभी आमंत्रित विशिष्ट अतिथियों के लिए भी स्थान आरक्षित किया गया है। सभी आमंत्रित सामाजिक संगठन प्रतिनिधि, एनसीसी के चयनित छात्र एवं अतिथियों के लिए प्रथम तल आरक्षित है। शाम छह बजे दीप उत्सव मनाया जाएगा।