भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि सोशल डिस्टेसिंग अर्थात दो-गज की दूरी का ध्यान रखने, सदैव मास्क का उपयोग करने और साबुन या सेनेटाईजर से बार-बार हाथ धोने के नियमों का पालन कर स्वयं की कोरोना से रक्षा करें। इन उपायों से कोरोना किसी के पास फटक नहीं सकता। किसी भी तरह की लापरवाही न बरतें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने समस्त कोरोना वॉरियर्स को धन्यवाद दिया जो दिन रात रोगियों की सेवा कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज चिरायु अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद आमजन के नाम संदेश में कहा कि कोरोना के लक्षण दिखते ही जांच अवश्य करवायें। वायरस से प्रभावित होने की बात छिपाई नहीं जाना चाहिए। इससे व्यक्ति स्वयं, अपने परिजन और आसपास के लोगों के लिए संकट का कारण बन सकता है। कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है। समय पर उपचार से कोरोना को पराजित किया जा सकता है। यह लाइलाज बीमारी नहीं है। साथ ही यह भी प्रयास करें कि कोरोना हो ही नहीं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वे स्वयं कोरोना योद्धा हैं। इस बीमारी से बाहर निकल कर आए हैं। अनुभव के आधार पर यही कहना आवश्यक लगता है कि घबराने की आवश्यकता नहीं। सरकार ने इलाज की सभी व्यवस्थाएं की हैं, लेकिन कोशिश यह हो कि इलाज की नौबत ही न आए।

बाजारों में भीड़ न बढ़ायें, आयोजन न करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपील की कि फिलहाल कोई बड़े आयोजन न किए जाएं। भीड़ भरी शादियाँ भी न हों। बाजारों में भीड़ न बढ़ाएं। भीड़ इकट्ठी होगी तो यह संकट को निमंत्रण देने जैसा होगा। अपने आपको बचाईये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वे अस्पताल से भी प्रदेश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। प्रतिदिन पूरे प्रदेश की समीक्षा होती है। इस बीमारी को समाप्त करने में आमजन का सहयोग आवश्यक है। मजबूत संकल्प के साथ सावधानियां रखते हुए हम लड़ेगें और जीतेंगे, प्रदेश जीतेगा-देश भी जीतेगा।