केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भेदभाव की शिकायत मिलने के बाद सब-डिविजनल अफसर (SDO) को फटकार लगाई है. केंद्रीय मंत्री ने एसडीओ को नसीहत देते हुए कहा कि एक चीज सुन लीजिए, जो आपकी हम रास्ते भर तारीफ सुने हैं, ये दोबारा न सुनने को मिले. आप सरकारी अधिकारी है. लिहाजा आप कतई भेदभाव न करें.
    केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने एसडीओ से कहा- दोबारा न सुनने को मिले आपकी तारीफएसडीओ से बोले गिरिराज- आप सरकारी अधिकारी हैं, किसी के साथ भेदभाव न करें

केंद्रीय मंत्री और बेगूसराय से बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वो सब-डिविजनल अफसर (SDO)पर बरसते नजर आ रहे हैं. दरअसल, बेगूसराय के बाढ़ प्रभावित स्थानीय लोगों ने एसडीओ पर राहत और बचाव काम में भेदभाव करने की शिकायत की थी, जिसके बाद गिरिराज सिंह मौके पर पहुंचे थे और एसडीओ को फटकार लगाई थी.

गिरिराज सिंह ने एसडीओ पर तंज कसते हुए कहा कि एसडीओ बड़े आदमी हैं. ये बाबू हैं. ये गली में उतरेंगे कैसे. केंद्रीय मंत्री ने एसडीओ को नसीहत देते हुए कहा कि एक चीज सुन लीजिए, जो आपकी हम रास्ते भर तारीफ सुने हैं, ये दोबारा न सुनने को मिले. आप सरकारी अधिकारी है. लिहाजा आप कतई भेदभाव न करें. आपके लिए सभी लोग बराबर हैं. यहां पर साल 2016 में कैंप लगा था. अगर यहां अब कैंप नहीं लगेगा, तो मैं आपके घर के बाहर धरना दूंगा.
गिरिराज ने कहा कि हम जन प्रतिनिधि हैं और आप जनसेवक हैं. हमसे ज्यादा आपका दायित्व बनता है. अगर कोई दिक्कत है, तो डीएम और हमको बताइए. हम मुख्यमंत्री से बात करेंगे और मुख्य सचिव से भी बात करेंगे. जब गिरिराज एसडीओ के नसीहत दे रहे थे, तभी वहां मौजूद भीड़ से कुछ लोगों ने बोलने की कोशिश की, तो गिरिराज ने उनसे भी साफ कह दिया कि अगर आप लोगों को बोलना है, तो हम न बोलें.
इससे पहले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बेगूसराय संसदीय क्षेत्र के लोगों के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाया था. उन्होंने कहा था कि नीतीश सरकार ने 18 जिलों को सूखाग्रस्त घोषित किया है, लेकिन कम बारिश होने के बावजूद बेगूसराय को सूखाग्रस्त सूची में शामिल नहीं किया गया.

गिरिराज सिंह ने कहा कि आधा बेगूसराय सूखा से जूझ रहा है, जबकि आधे हिस्से में बाढ़ का कहर है. बेगूसराय में राहत और बचाव काम को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बेगूसराय के साथ सौतेला व्यवहार कर रहे हैं.