जयपुर. सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने बेरोजगार युवाओं को बड़ा तोहफा (Big gift) दिया है. लंबे समय से पद बढ़ाने की मांग कर रहे कनिष्ठ सहायक भर्ती-2018 (Junior assistant recruitment) के नियुक्ति से वंचित अभ्यर्थियों की आखिरकार मांग पूरी कर दी गई है. सीएम अशोक गहलोत ने कनिष्ठ सहायक भर्ती परीक्षा-2018 में 603 अतिरिक्त पदों (Additional posts) के सृजन को मंजूरी दी है. इनमें सामान्य वर्ग के 345, अन्य पिछड़ा वर्ग के 223 और अनुसूचित जनजाति के 35 पद हैं. संशोधित अर्थना के कारण नियुक्ति से वंचित हो रहे अभ्यर्थियों को इससे बड़ी राहत मिलेगी और उन्हें विज्ञापित पदों के अनुरूप नियुक्ति के अवसर मिल पाएंगे.

भर्ती में घोषित पदों में कटौती कर दी गई थी
इस भर्ती की संशोधित अर्थना में पहले विज्ञापित पदों में से सामान्य, ओबीसी और अनुसूचित जनजाति वर्गों के पदों की कमी कर दी गई थी. जबकि राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने विज्ञापित पदों के अनुसार परिणाम जारी कर अभ्यर्थियों के आवेदन-पत्रों का सत्यापन भी करा लिया था. पिछले दिनों कार्मिक विभाग की एक बैठक में मुख्यमंत्री के संज्ञान में यह मामला आया. इस पर सीएम ने निर्देश दिए थे कि पदों में कमी के कारण चयन से वंचित इन वर्गों के पात्र अभ्यर्थियों को नियुक्ति दी जाए.

अतिरिक्त पदों पर पात्र अभ्यर्थियों को जल्द नियुक्ति मिल सकेगी

इसी क्रम में इन 603 अतिरिक्त पदों के सृजन को मंजूरी दी गई है. मुख्यमंत्री की स्वीकृति के बाद अब जल्द ही इन अतिरिक्त पदों पर पात्र अभ्यर्थियों को नियुक्ति मिल सकेगी. अब तक इस परीक्षा के गैर अनुसूचित क्षेत्र के 10,763 खाली पदों में से 10,688 पर और अनुसूचित क्षेत्र के 1278 खाली पदों में से 722 पर नियुक्तियां दी जा चुकी है. इस तरह कुल 11,410 अभ्यर्थियों को विभागों का आवंटन किया जा चुका है.

कंप्यूटर योग्यता लेने के लिए आरकेसीएल के परीक्षा लेने तक छूट

इसके साथ ही सीएम ने राशन दुकान आवंटन के लिए जरूरी 3 माह का कम्प्यूटर ट्रेनिंग कोर्स सर्टिफिकेट लेने में भी छूट दी है. अब 31 मार्च 2021 या आरकेसीएस के परीक्षा आयोजित होने तक इसमें छूट दी गई है. कोराना के कारण आरकेसीएल परीक्षाएं नहीं करवा रहा है. इसलिए सीएम ने इसमें छूट देने का फैसला किया है. उल्लेखनीय है कि राशन दुकान आवंटन में तीन माह के कंप्यूटर कोर्स का सर्टिफिकेट अनिवार्य है.