कोरबा छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत 4 दिवसीय प्रवास पर हैं। इस कड़ी में वे आज कोरबा पहुंचे। उनके साथ छत्तीसगढ़ राज्य गौसेवा आयोग के अध्यक्ष महंत रामसुंदर दास भी प्रवास पर है। जिले के पोड़ी-उपरोड़ा विकासखंड अंतर्गत ग्राम केंदई में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने  के लिए पहुंचे डॉ. महंत व रामसुंदर दास ने गौ सेवा को अनुकरणीय कार्य बताया। डॉ. महंत ने कहा कि गौ-पालन व गौ सेवा कार्य महान और अतुलनीय है। गाय में 33 करोड़ देवी-देवताओं का वास माना गया है और इससे प्राप्त उत्पाद बहुउपयोगी हैं। गाय का ग्रामीणों और किसानों के लिए काफी अहम स्थान है। महंत रामसुंदर दास ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा पूरे देश में पहली बार छत्तीसगढ़ में प्रारंभ की गई गोधन न्याय योजना को अति उत्तम योजना बताते हुए कहा कि यह मील का पत्थर साबित होगा। गौ-पालकों के लिए यह योजना बहुत ही लाभदायक है। गौ-पालकों के द्वारा अब तक जो गोबर फेंक दिया जाता था, वह अब रुपए प्रदान करने लगा है। गाय के गोबर से निर्मित खाद की जहां मांग बढ़ रही है, गोबर निर्मित दीयों के मांग भी न सिर्फ भारत बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी होने लगी है। गोधन न्याय योजना न सिर्फ गौ-पालकों के जीवन स्तर को ऊंचा करने वाली है बल्कि प्रदेश की अलग पहचान भी राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बनी है।