नई दिल्ली । साझा कोष कंपनी फ्रैंकलिन टेम्प्लेटन ने शनिवार को बताया कि उसने अपनी जिन छह बांड निवेश योजनाओं को बंद कर रखा है, उनमें से उसे अप्रैल से अब तक 8,302 करोड़ रुपये की प्राप्ति हुई है। कंपनी के अनुसार यह प्राप्ति परिपक्व निवेश, समय पूर्व भुगतान और निवेश पर निर्धारित ब्याज के रूप में हुई है। फ्रैंकलिन टेम्प्लेटन ने बांड बाजार नकदी प्रवाह के संकट के बीच गत 23 अप्रैल को इन योजनाओं को बंद कर दिया था। इसके चलते यूनिटधारकों का यूनिटों का विमोचन भी रुक गया। साझा कोष कंपनी ने कहा कि 24 अप्रैल से 15 अक्टूबर तक इन छह योजनाओं में परिपक्वता, समय पूर्व भुगतान और कूपन (अंकित ब्याज) के रूप में 8,302 करोड़ रुपये प्राप्त हुए हैं। इस धन का कुछ हिस्सा कर्ज के भुगतान में इस्तेमाल किया गया है। उसके बाद इनमें 5,116 करोड़ रूपये की राशि बची हुई है। इससे चार शुद्ध सकारात्मक नकदी प्रवाह वाली बांड निवेश योजनओं, फ्रैंकलिन इंडिया अल्ट्रा शर्ट बांड फंड, फ्रैंकलिन इंडिया डायनमिक एक्रूअल फंड, फ्रैंकलिन इंडिया लो ड्यूरेशन फंड, फ्रैंकलिन इंडिया क्रेडिट रिस्क फंड को उनके यूनिट निवेश के बदले चुकाया जा सकता है। इसमें कंपनी कोष को चलाने के अपने खर्च का समयोजन करेगी।