• पूर्व चीफ सिलेक्टर एमएसके प्रसाद ने कहा- ऋषभ पंत ने बेहतर प्रदर्शन कर टीम इंडिया में जगह बनाई, धोनी के रिटायरमेंट के बाद उनके पास अपना प्रदर्शन सुधारने का मौका
  • पंत ने साल 2018 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू किया था, अब तक उन्होंने 13 टेस्ट में 38.76 की औसत से 814 रन बनाए हैं

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व चीफ सिलेक्टर एमएसके प्रसाद का मानना है कि विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत खुद की तुलना महेंद्र सिंह धोनी से करने लगे थे। इसी वजह से शानदार शुरुआत के बावजूद उनके खेल में गिरावट आने लगी। प्रसाद ने स्पोर्ट्स वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में यह बात कही।

उन्होंने कहा कि हर बार जब पंत मैदान पर कदम रखता है, तो उसकी तुलना धोनी से की जाती है और शायद वह भी उस उत्साह में फंस रहा है। कई बार, हमने उससे बात की कि उसे इस पर काबू पाना होगा। मैंने अपने कार्यकाल में उसे समझाया था कि वह धोनी से खुद की तुलना न करें। अपने खेल पर फोकस करें। प्रसाद ने कहा कि पंत को धोनी की परछाई से बाहर निकलने की जरूरत है।

धोनी के रिटायरमेंट के बाद पंत को खेल सुधारने का मौका मिलेगा

धोनी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं। पिछले कुछ सालों से पंत को उनके उत्तराधिकारी के रूप में देखा जा रहा है, हालांकि पिछले कुछ महीने से पंत की खराब फॉर्म ने टीम मैनेजमेंट को काफी निराश किया है। टी-20 में केएल राहुल ने बैटिंग के साथ विकेट के पीछे भी बेहतर प्रदर्शन किया है। प्रसाद का मानना है कि धोनी के रिटायरमेंट से पंत को अपना खेल सुधारने का मौका मिलेगा

पंत ने 13 टेस्ट में 38.76 की औसत से 814 रन बनाए

पंत ने साल 2018 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू किया था। अब तक उन्होंने 13 टेस्ट में 38.76 की औसत से 814 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने दो शतक लगाए। उन्होंने अपना अंतिम टेस्ट इसी साल फरवरी में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था।

वहीं, उन्होंने अक्टूबर 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे में डेब्यू किया था। पंत अब तक 16 वनडे में 26.71 की औसत से 371 रन बना चुके हैं। उन्होंने अपना अंतिम वनडे इसी साल जनवरी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। पंत ने तीन साल पहले इंग्लैंड के खिलाफ पहला टी-20 खेला था। वे अब तक भारत के लिए 27 मैच खेल चुके हैं। उन्होंने 20.5 की औसत से 410 रन बनाए हैं। उन्होंने इसी साल जनवरी में श्रीलंका के खिलाफ अपना अंतिम टी-20 मैच खेला था।