नई दिल्ली । भारत की सबसे बड़ी ऑयल रिफाइनर और फ्यूल रिटेलर इंडियन ऑयल के चेयरमैन रहे संजीव सिंह ने रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड जॉइन कर ली है। वह दो महीने पहले ही इंडियल ऑयल से रिटायर हुए थे। मुकेश अंबानी की कंपनी में उन्हें ग्रुप प्रेजिडेंट और ओ2सी (ऑयल टु केमिकल्स) बिजनस लीडरशिप टीम का मेंबर बनाया है। सिंह 30 जून को रिटायर हुए थे। वैसे सरकारी कंपनी का प्रमुख रहा व्यक्ति एक साल तक किसी निजी कंपनी में कोई पद नहीं ले सकता है। लेकिन सिंह ऐसे दूसरे व्यक्ति हैं जिन्हें सरकार ने इसकी अनुमति दी है। इससे पहले 2001 में सीआर प्रसाद को गेल के सीएडी पद से रिटायर होने के बाद ब्रिटिश गैस जॉइन करने की अनुमति दी थी। इससे पहले सरकारी तेल कंपनियों के कई अधिकारी रिटायर होने के बाद आरआईएल जॉइन कर चुके हैं। इनमें भारत सार्थक बेहुरिया, आर के घोष, ई डी देवांग्शु रॉय और बी के दत्ता शामिल हैं। बेहुरिया 2005 में इंडियन ऑयल का चेयरमैन बनने से पहले भारत पेट्रोलियम के सीएमडी थे। अभी वह बीपी के साथ रिलायंस के फ्यूल रिटेल जॉइंट वेंचर जियो-बीपी में सीनियर एडवाइजर हैं। आरके घोष इंडियन ऑयल में डायरेक्टर (रिफाइनरीज) थे। इसी तरह बीके दत्ता भारत पेट्रोलियम में डायरेक्टर (रिफाइनरीज) थे। अब ये सभी देश में निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी तेल कंपनी रिलायंस से जुड़े हैं।