भोपाल में 23 चिताओं से श्मशान ओवरफ्लो:छह महीने में ऐसा पहली बार; एक दिन में 23 कोरोना मरीजों की मौत, मध्यप्रदेश में संक्रमण से 33 लोगों ने दम तोड़ा
 

भदभदा विश्रामघाट में रात तक जलती रहीं कोविड मृतकों की चिताएं। राजधानी में कोविड मरीजों का अंतिम संस्कार इसी विश्राम घाट पर हो रहा है, ऐसे में यहां दिनभर कोराेना मरीजों के शव आते रहे।
 

सिर्फ एक शव के अंतिम संस्कार की ही जगह बची, एक ही विश्रामघाट पर कोविड मरीजों का अंतिम संस्कार हो रहा, इसलिए भीड़ लगी
 

बीते 24 मार्च से अब तक ऐसा पहली बार हुआ है, जब किसी एक दिन में इतने कोरोना मरीजों की मौत हुई हो

यह बेहद दुखद और हैरान करने वाली बात है। गुरुवार को भोपाल में 23 कोरोना मरीजों की मौत हुई। इनमें 8 भोपाल कोरोना पेशेंट थे, तो शेष 15 आसपास के शहरों के। बीते 24 मार्च से अब तक ऐसा पहली बार हुआ है, जब किसी एक दिन में इतने कोरोना मरीजों की मौत हुई हो।

राजधानी में कोविड मरीजों का अंतिम संस्कार अभी भदभदा विश्राम घाट पर हो रहा है, ऐसे में यहां दिनभर कोराेना मरीजों के शव आते रहे।

राजधानी में गुरुवार को 265 नए संक्रमित मिले

सामान्य मृतकों के परिजन को प्लेटफार्म खाली होने का इंतजार करना पड़ा तो कुछ ने जगह नहीं मिलने पर जमीन पर ही चिता लगाकर अंतिम संस्कार कर दिया। दिनभर में 27 शव यहां पहुंचे। इनमें 23 का कोविड प्रोटोकॉल तो बाकी 4 का सामान्य प्रक्रिया से दाह संस्कार किया गया। राजधानी में गुरुवार को 265 नए संक्रमित मिले।

प्रदेश में... आज हो सकते हैं एक लाख केस, हालांकि रिकवरी रेट 75% से ज्यादा
प्रदेश में 2391 केस मिले। अब 97906 संक्रमित हो चुके हैं। तीन दिन में 7 हजार से ज्यादा केस बढ़ रहे हैं। अगस्त में छह दिन में बढ़ रहे थे। कुल संक्रमितों का आंकड़ा शुक्रवार को एक लाख के पार जा सकता है। हालांकि, केस बढ़ने के बावजूद प्रदेश का रिकवरी रेट 75% बना हुआ है।

विधानसभा सत्र के पहले सदन के 6 कर्मचारी संक्रमित, 100 के टेस्ट हुए

21 सितंबर को होने जा रहे विधानसभा के एक दिनी सत्र के पहले सदन के 6 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इन्हें क्वारैंटाइन कर दिया गया है। साथ ही विधायकों व अन्य कर्मचारियों का कोविड रैपिड टेस्ट कराया जा रहा है। दो दिन में 100 कर्मचारियों की जांच की जा चुकी है।