रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी (Ajit Jogi) के स्वास्थ्य को लेकर अस्पताल ने एक बड़ी जानकारी दी है. श्री नारायणा अस्पताल रायपुर (Raipur) ने अजीत जोगी का हेल्थ बुलेटिन जारी किया. रविवार को जारी नए हेल्थ बु​लेटिन (Health Bulletin) में अस्पताल ने अजीत जोगी की स्थित पहले जैसे ही बताई है. अस्पताल की मानें तो हिमो डायनामिकली उनका स्थिति स्थिर बताई है. फिलहाल उन्हें वेंटीलेटर के जरिए सांस दी जा रही है. अजीत जोगी अभी भी कोमा में ही हैं. मालूम हो कि 9 मई को रेस्पिरेटरी और कार्डियक अरेस्ट आने के बाद अजीत जोगी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था.श्री नारायणा अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. सुनील खेमका के हवाले से जारी  हेल्थ बुलेटिन में बताया गया है कि डॉ. पंकज ओमक के नेतृत्व में बनी टीम अजीत जोगी का इलाज कर रही है. जोगी अभी भी कोमा में हैं और वेंटीलेटर से उन्हें सांस दी जा रही है. राइल्स ट्यूब के जरिए उन्हें खाना दिया जा रहा है. टीसीडी, वीएनएम, इंफ्रारेड रेडिएशन समेत कई तकनीकों से उनके ब्रेन को एक्टिव करने की कोशिश की जा रही है.

कई डॉक्टरों से ली जा रही सलाह
अजीत जोगी के ट्रीटमेंट में अब विदेश सहित देश के डॉक्टरों की सलाह ली जा रही है. अस्पताल द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक बेंगलुरु स्थित नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ के न्यूरोलॉजी विभाग के प्रोफेसर डॉ. संजीव सिंह से जोगी के स्वास्थ्य के संबंध में चर्चा की जा रही है. इससे पहले सिंगापुर के नेशनल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल के न्यूरोलॉजी विभाग के प्रमुख डॉ. विजय कुमार शर्मा से टेली कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा की गई थी.

ब्रेन को एक्टिव करने की कोशिश
बता दें कि अजीत जोगी के ब्रेन को एक्टिव करने के लिए अस्पताल में सांग थेरेपी (Song Therapy) या ऑडियो थेरेपी दी जा रही थी. इसके तहत उन्हें उनका पसंदीदा संगीत सुनाया गया. इस ऑडियो थैरेपी के बाद उनकी तबीयत में आंशिक सुधार देखा जा रहा था. इसके साथ ही उनके दिमाग में कुछ हलचल देखने को मिली थी.वहीं 13 मई की रात अजीत जोगी के बाएं हाथ के अंगूठे में थोड़ी हलचल हुई थी. इस दौरान उनके बेटे अमित जोगी भी उनके साथ मौजूद थे. डॉक्टरों की टीम लगातार उनके स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग कर रही है.