मुम्बई । भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के महिला क्रिकेट के राष्ट्रीय चयन पैनल की नई प्रमुख नीतू डेविड ने कहा है कि उनका ध्यान शेफाली वर्मा जैसी और युवा प्रतिभाओं को खोजने और निखारने पर रहेगा। पूर्व स्पिनर नीतू सीमित ओवर क्रिकेट की जरूरतों को बखूबी समझती हैं। हेमलता काला की जगह लेने वाली 43 साल की नीतू ने कहा, ‘‘जिस तरह से क्रिकेट खेला जा रहा है, यह काफी तेज है और इसके लिये हमें शेफाली जैसी और खिलाड़ियों की जरूरत रहेगी। अब आप बल्लेबाजों को आते ही आक्रामक होते हुए देखते हो, यहां तक कि घरेलू क्रिकेट में भी जबकि पहले ऐसा नहीं होता था। ऐसे में अब हम उन खिलाड़ियों को अवसर देते हैं जो शुरु से आक्रामक रुख अपनायें।’’ नीतू की अध्यक्षता में पैनल का पहला काम संयुक्त अरब अमीरात में नवंबर में महिलाओं के टी20 चैलेंज के लिये तीन टीमों के चयन का रहेगा। यह इंडियन प्रीमियर लीग के प्ले आफ के साथ ही खेला जायेगा। टीम चयन इसलिए भी आसान नहीं होगा क्योंकि  कोरोन महामारी के कारण पिछले छह माह से खेल मुकाबले रुके हुए हैं। नई अध्यक्ष बनी नीतू ने कहा कि टीम में अनुभव काफी अहम होता है इसलिए मिताली राज और झूलन गोस्वामी जैसी अनुभवी खिलाड़ी तब तक खेलना जारी रख सकती हैं, जब तक वे बेहतर प्रदर्शन कर रही हैं। दोनों के 2021 वनडे विश्व कप के बाद संन्यास लेने की उम्मीद थी जो अब 2022 तक स्थगित हो गया है। उन्होंने कहा, ‘‘कुछ भी चीज स्थायी नहीं है। बदलाव प्रकृति का नियम है लेकिन अनुभव मायने रखता है। टीम में अनुभव और युवा खिलाड़ियों का अच्छा संयोजन है।’’ साथ ही कहा कि युवाओं को सही समय पर अवसर देना भी सबसे अहम है।