जगदलपुर. बस्तर (Bastar) के  जगदलपुर(Jagdalpur) इलाके में शुक्रवार रात एक बड़ा हादसा हो गया. शहर के एक पटाखा दुकान (firecracker shop) में अचानक आग(Fire) लग गई. जानकारी के मुताबिक, गोल बाजार इलाके में लगी आग से अचानक अफरा-तफरी मच गई. देखते ही देखते आग आस-पास के दुकानों तक पहुंचने लगी थी. बताया जा रहा है कि एक तीन मंजिला बिल्डिंग ( Three storey building) में पटाखे का दुकान चलाया जा रहा था. शुक्रवार रात अचानक दुकान के ग्राउंड फ्लोर में आग लगी. आग की वजह से देर रात तक पटाखों की आवाज आती रही. फिलहाल दमकल (Fire Brigade) की मदद से आग पर काबू पा लिया गया  है. सुबह तकरीबन 5.30 आग बुझाई गई. तीन मंजिला बिल्डिंग में लगी आग बुझाने के लिए पहली बार लिफ्ट मॉक का भी इस्तेमाल किया गया. आग लगने के पीछ की वजह फिलहाल साफ नहीं हो पाई है.

तीन मंजिला बिल्डिंग जलकर खाक

गोल बाजार इलाके के पटाखा दुकान में लगी आग से इलाके में काफी अफता-तफरी मच गई. बताया जा रहा है कि आग पहले दुकान के ग्राउंड फ्लोर में लगी. फिर देखते ही देखते बिल्डिंग के तीसरे मंजिल तक पहुंच गई. आग की वजह से पूरी बिल्डिंग जलकर खाक हो गई है.

दमकल को करनी पड़ी भारी मशक्कत

पटाखा दुकान में लगी आग को बुझाने में दमकल को काफी मशक्कत करनी पड़ी. दुकान में रखे पटाखों की वजह से आग काफी बढ़ गई और तेजी से फैलने लगी. जानकारी के मुताबिक, दमकल की करीब 28 गाड़ियां आग बुझाने में लगाई गई थी. गाड़ियों ने तकरीबन 50 फेरे लगाए तब जाकर आग पर काबू पाया गया. आग इतनी भयानक थी कि एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया, डीआरडीओ और एनएमडीसी से भी आग बुझाने गाड़ियों को बुलाना पड़ा.

पटाखा दुकान में आग लगने की वजह का फिलहाल पता नहीं चल पाया है. बताया जा रहा है कि दुकान के मालिक का नाम कमल पटवा है जो फिलहाल शहर से बाहर है. दुकान में पटाखों के अलावा कॉस्मेटिक भी है. आग बुझाने के लिए फोम और हाईड्रोजन गैर का भी इस्तेमाल किया गया. जेसीबी से बिल्डिंग की दीवर को भी तोड़ा गया. आईजी विवेकानंद सिन्हा, एसपी दीपक झा, कलेक्टर आयाज तंबोली, महापौर जतिन जैसवाल के साथ तकरीबन एक हजार पुलिस के जवान मौके पर तैनात किए गए थे.