वर्तमान दौर में सोशल मीडिया संवाद और संपर्क का बेहद प्रभावी माध्यम हो गया है। नौकरी खोजने और पाने के मामले में भी यह अहम भूमिका निभाता है। इसकी पारंपरिकता में काफी बदलाव आया है। अब नियोव्ता लिंकेडिन, फेसबुक और ट्विटर के जरिए टैलेंट को ढूंढने लगे हैं। इसका कारण यह है कि युवाओं में ये सोशल नेटवर्किग साइट्स काफी लोकप्रिय हैं और वे हमेशा खुद को अपडेट रखना चाहते हैं। 
विशेषज्ञों का कहना है कि नेटवर्किग के जरिए जहां आप किसी के बारे में पूर्व जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, वहीं किसी के रिपुटेशन को लेकर सोशल मीडिया के जरिए जानकारी प्राप्त की जा सकती है। फेसबुक, लिंकेडिन और ट्विटर के जरिए कोई भी नियोव्ता उम्मीदवार की एक्टिविटी और उसके व्यक्तित्व को आसानी से परख सकता है हालांकि किसी भी युवा के लिए ऑन लाइन नौकरी पाना आसान नहीं है क्योंकि कॉलेज या संस्थान के छात्रों को इसके बारे में अधिक जानकारी नहीं होती है। यही कारण है कि एचआर प्रोफेशनल्स सोशल मीडिया के जरिए मध्य और वरिष्ठ स्तर पर नौकरी के योग्य लोगों की तलाश करते हैं। हालांकि अधिकतर युवा फेसबुक का ज्यादा प्रयोग करते हैं, इसलिए इंट्री लेवल पर एचआर प्रोफेशनल्स फेसबुक को ही अपना जरिया बनाते हैं। वर्तमान में विभिन्न कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारी अपने यहां की वैकेंसीज भी इन्हीं साइटों पर डालने लगे हैं। इसलिए यदि आप किसी सोशल नेटवर्किग साइट्स पर अपना एकाउंट खोलने और नौकरी ढूंढने जा रहे हैं तो कुछ बातों का अवश्य ध्यान रखें।  
यदि आप सोशल मीडिया में नए हैं तो इसकी मदद लेने का यह बेहतर समय है। इसकी सहायता से आप बेहतर मौके पा सकते हैं। ट्विटर, फेसबुक और लिंकेडिन पर प्रोफाइल बनाने के बाद आप अपने फील्ड के बेहतर लोगों के पास पहुंच सकते हैं। आपका प्रोफाइल आउटस्टेंडिंग होना चाहिए, जिसमें आपकी तस्वीर, आपके काम की जानकारी, पोजिशन के साथ हर मामले में छोटी-छोटी टिप्पणी हो। यदि कुछ लोगों का रिकमंडेशन हो तो उसे भी जरूर शामिल करें। यदि आप कुछ चीजों को सार्वजनिक नहीं करना चाहते हैं तो उसे भूल से भी साइट पर न डालें। उन्हीं मामलों को सार्वजनिक करें, जिस आप चाहते हैं कि भविष्य में होने वाले बॉस को उसकी जानकारी हो या फिर वर्तमान और पूर्व बॉस उस मामलों से अवगत हों। जब आप अपना प्रोफाइल बना लें तो लोगों को जोड़ते समय इस बात का ख्याल जरूर रखें कि वे पेशेवर हैं या नहीं। आप हमेशा क्वालिटी पर ध्यान दें न कि क्वांटिटी पर क्योंकि अधिक लोगों से संपर्प होने से कोई फायदा नहीं बल्कि फायदा होता है अच्छे और काम के लोगों से संपर्क होने से।  
यदि आप जानते हैं कि किसी कंपनी में कोई काम कर रहा है, तो आप सोशल मीडिया के जरिए उससे जरूर जुड़ें और उसके सामने अपनी बातें जरूर रखें। यदि आप चाहते हैं कि आप इंटरव्यू आसानी से दे सकें इसके लिए आप अपने रिज्यूमे में ट्विटर, फेसबुक प्रोफाइल का भी जिक्र कर सकते हैं। इससे यह होगा कि नियोक्ता आपका प्रोफाइल ऑन लाइन देख कर सकता है। यदि वह आपके रिज्यूमे में कुछ बेहतर बातें पाता है तो आपका रास्ता खुल सकता है।