नई दिल्‍ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक प्रमुखों, मुख्य कार्यकारी अधिकारियों (सीईओ) के साथ शुक्रवार को समीक्षा बैठक करेंगी। इस दौरान कोविड‑19 की महामारी और देशव्‍यापी लॉकडाउन के दौरान बुरी तरह प्रभावित अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए किए जा रहे प्रयासों और बैंकों से लोन उठाव पर चर्चा की जाएगी। सूत्रों ने ये जानकारी दी है।

गौरतलब है कि बैंक प्रमुखों के साथ वित मंत्री की ये बैठक इससे पहले 11 मई को होनी थी, लेकिन आत्‍मनिर्भर भारत अभियान के तहत आर्थिक पैकेज की घोषणा के चलते इसे आगे के लिऐ टालना पड़ा।
सूत्रों ने बताया कि ये बैठक वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगी। इस बैठक में बैंकों की तरफ से कर्ज लेने वालों को ब्याज दर का लाभ दिए जाने और कर्ज किस्तों पर लगाई गई रोक के मामले में हुई प्रगति पर भी गौर किया जाएगा।

उल्‍लेखनीय है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने 27 मार्च को प्रमुख नीतिगत रेपो दर को 0.75 फीसदी घटा दिया था। आरबीआई ने इसके साथ ही कर्जदारों को राहत पहुंचाने के लिए 3 माह तक उनके द्वारा कर्ज की किस्त और ब्याज चुकाने पर रोक लगा दी थी।

दरअसल ये राहत कोरोना-19 के संक्रमण के कारण लागू लॉकडाउन के दौरान लोगों को हुए आय नुकसान को देखते हुए दी गई है। वहीं, केंद्र सरकार की ओर से 20 लाख करोड़ रुपये के राहत की घोषणा को देखते हुए यह बैठक काफी अहम है।