मुंबई । ऐक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा को परिवार द्वारा आगे बढ़ने को लेकर हतोत्साहित किया गया था। ऐक्ट्रेस ने बताया कि मैं छोटे शहर में पली-बढ़ी हूं लेकिन मेरे सपने बड़े थे। कई लोगों ने मुझे बताया कि लड़की होने के कारण ये सपने पूरे नहीं हो पाएंगे। मगर, वह लकी है कि उनके परिवार ने उन्हें बड़े सपने देखने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा, 'मेरे परिवार ने मुझे यहां तक पहुंचाने में हमेशा मेरा साथ दिया है। उन्होंने मुझे विश्वास दिलाया कि मैं कुछ भी कर सकती हूं और मुझे यह समझाने में मदद की कि मैं अपने भविष्य को खुद से संभाल सकती हूं।' ऐक्ट्रेस ने आगे कहा कि कोई भी काम छोटा नहीं होता है, बस कमिटमेंट की जरूरत होती है। भले ही वर्तमान समय में हम वैश्विक महामारी से लड़ रहे हों लेकिन हॉलिवुड ऐक्टर चाहते हैं कि महिलाएं आगे आएं। यहां एक शुरुआत है कि आगे बढ़ो। आइए हम उसी बदलाव की मांग करें जिसे हम दुनिया में देखना चाहते हैं ताकि अगली पीढ़ी की लड़कियों को हमारे जैसी लड़ाई न लड़नी पड़े। महिलाओं ने हमारे मतदान, अधिकार और काम के लिए लड़ी हैं। आज हम इस बारे में सोचते भी नहीं हैं। अब आने वाली पीढ़ी की लड़कियों के लिए ऐसा करने की हमारी बारी है। उन्‍होंने आखिरी में कहा कि  'भले ही आपकी एक आवाज हो लेकिन मुझे उम्मीद है कि आप इसका इस्तेमाल उन सभी लड़कियों के लिए करेंगे जो नहीं कर सकती हैं। उन सभी लड़कियों के लिए जिन्हें समान अवसर नहीं दिए गए हैं। लेकिन अगर हम में से हर एक अपनी आवाज उठाता है तो हम एक ऐसी दुनिया का निर्माण करेंगे जहां कोई लड़की चुप नहीं रहेगी।'