अयोध्या । अयोध्या में आरक्षक के पद पर तैनात योगेश चौहान की हत्या का खुलासा हुआ है। इटावा पुलिस ने योगेश चौहान की प्रेमिका मंदाकिनी चौहान और उनकी दो सगी बहनों समेत भाड़े पर हत्या करने वाले दो अपराधियों को भी गिरफ्तार किया है। पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि प्यार में असफल होने पर थाना राम जन्मभूमि में ही तैनात महिला पुलिसकर्मी मंदाकिनी ने अपनी दो बड़ी बहनों के साथ मिलकर इटावा में पहले योगेश की सर कुचल कर हत्या की और उसके बाद उनकी लाश को गड्ढे में फेंक दिया। इस पूरी वारदात में महिला पुलिसकर्मी की बड़ी बहन भी शामिल रहीं। इस जघन्य हत्याकांड से पर्दा उठाते हुए इटावा पुलिस ने बताया कि 7 अक्टूबर को सिपाही योगेश चौहान अयोध्या से एक सप्ताह की छुट्टी लेकर अपने घर मथुरा के लिए रवाना हुए थे।
इटावा में ही तीनों बहनों और उनके दो साथियों ने मिलकर किसी भारी वस्तु से योगेश के सर पर चोट मारी और उसके बाद उनके शव को लवेदी थाना क्षेत्र में एक सुनसान जगह पर फेंक दिया। मृतक पुलिसकर्मी की गुमशुदगी की तहरीर अयोध्या के थाना राम जन्मभूमि और मथुरा में भी दर्ज थी। इसके कुछ दिन बाद एक अज्ञात शव मिलने और उसकी शिनाख्त होने पर पुलिस ने जांच शुरू की तो एक के बाद एक कड़ियां जुड़ती गईं और हत्याकांड की इस वारदात से पर्दा उठ गया। पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल महिला पुलिसकर्मी मंदाकिनी, उसकी बड़ी बहन मीना और उसकी एक अन्य बहन सहित दो अन्य युवकों को भी गिरफ्तार किया है। साथ ही पुलिस ने वारदात में शामिल कार भी बरामद कर लिया है। वहीं पांचों अभियुक्तों को जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है।