नई दिल्ली, Facebook India Ankhi Das Quits: फ़ेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी हेड अंखी दास ने फ़ेसबुक से इस्तीफ़ा दे दिया है. हाल ही में अंखी दास विवादों में भी रही हैं और कांग्रेस ने फ़ेसबुक हेडक्वॉर्टर में शिकायत भी दर्ज की थी.
अंखी दास पर हेट कंटेंट ब्लॉक करने को लेकर भाजपा का पक्षपात करने का आरोप लगा था. कांग्रेस ने इसकी शिकायत मार्क जकरबर्ग को चिठ्ठी लिख कर भी की थी. हालांकि फेसबुक ने इसके बाद साफ किया था ये आरोप गलत है. 
अंखी दास के इस्तीफे के बाद फेसबुक इंडिया का स्टेटमेंट आया है. बताया जा रहा है कि अब अंखी दास पब्लिक सर्विस में अपना फ्यूचर देखेंगी. फ़ेसबुक इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर अजीत मोहन ने कहा है, ‘अंखी ने पब्लिक सर्विस में अपना फ्यूचर बनाने के लिए फ़ेसबुक से इस्तीफ़ा देने का फ़ैसला किया है.’
फ़ेसबुक इंडिया के स्टेटमेंट में ये भी कहा गया है कि अंखी दास भारत में शुरुआती फ़ेसबुक कर्मचारियों में से एक हैं और 9 साल से कंपनी के भारत में ग्रोथ के लिए बड़ा रोल प्ले किया है. फ़ेसबुक इंडिया हेड अजीत मोहन ने कहा है कि पिछले दो सालों से अंखी दास उनके ही लीडरशिप में काम कर रही थीं और उन्होंने काफ़ी योगदान दिया है. उन्होंने उनकी सर्विस के लिए उनका शुक्रिया अदा किया है.
अंखी दास पर फ़ेसबुक की हेट स्पीच पॉलिसी को बीजेपी के फ़ेवर में करने का भी आरोप लगाया गया था. हालांकि फेसबुक ने इस आरोप से भी इनकार किया था. अंखी दास ने अपने को-वर्कर्स को ईमेल किया है जिसमें उन्होंने ये शेयर किया है कि कैसे 2011 से अब तक उनका सफ़र रहा है. उन्होंने शेयर किए गए नोट में कह है कि उन्हें लगता है कि भारत में लोगों को कनेक्ट करने का मिशन पूरा हुआ है. 
मेल में उन्होंने कहा था 2011 में भारत में फ़ेसबुक एक छोटे स्टार्टअप के तौर पर था. उन्होंने फ़ेसबुक के ईजाद के लिए मार्क जकरबर्ग का भी शुक्रिया अदा किया है. फिलहाल ये साफ नहीं है कि अब भारत में उनकी जगह कौन लेगा. इस बारे में कंपनी आने वाले कुछ समय में स्टेटमेंट जारी कर सकती है.