इटावा. अपने गृह जनपद इटावा (Etawah) पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने बड़ा ऐलान किया. अखिलेश यादव ने कहा कि 2022 में सत्ता में आने के बाद बीजेपी सरकार की सभी जनविरोधी कानूनों को वापस लेंगे. पिछले तीन दिनों से इटावा प्रवास के दौरान अखिलेश यादव 2022 में अपनी सरकार बनने की उम्मीद से पूरी तरह लवरेज नजर आए. इस दौरान उन्होंने सूबे की योगी सरकार पर भी तीखा हमला बोला. अखिलेश यादव ने सरकार की नीतियों को जनविरोधी बताया और कहा कि हमारे सत्ता में आने के बाद बीजेपी के कानूनों को वापस लिया जाएगा। लोगों को संबोधित करते समय उनकी वाणी में बीजेपी की नीतियों के प्रति रोष स्पष्ट रूप से नजर आ रहा था. जनता से मुखातिब अखिलेश यादव ने कहा कि आज देश का हर व्यक्ति बीजेपी की नीतियों से त्रस्त है. कृषि के काले कानूनों ने तो किसानों की कमर ही तोड़ दी है. महंगाई चरम पर है. 2022 में प्रदेश में सपा की सरकार बनने पर सभी जनविरोधी कानूनों को वापस लिया जाएगा और महंगाई पर लगाम लगाई जाएगी.

अखिलेश ने लोगों से की मुलाक़ात 
गौरतलब है कि अपने गृह जिले के दौरे पर आये अखिलेश यादव पिछले तीन दिनों से इटावा में ही हैं. अखिलेश यादव अलीगढ़ दौरे से लौटने के बाद शनिवार को इटावा के रास्ते औरैया जाते समय इकदिल, बकेवर, अजीतमल के लोगों के बीच जाकर मिलना शुरू किया तो उन्हें एक नई उम्मीद दिखाई दी. अखिलेश यादव को देखने के लिए लोगों ने छतों से निहारना शुरू कर दिया. सभी लोगों का अखिलेश यादव ने हाथ हिलाकर अभिवादन किया. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शनिवार को इटावा से औरैया जाते समय इकदिल में रुके। शिवम कोल्ड स्टोरेज पर पूर्व ब्लाॅक प्रमुख शिवप्रताप राजपूत ने सपा मुखिया का स्वागत किया और उन्हें भगवान श्रीकृष्ण की प्रतिमा भेंट की. यहां पहुंचकर अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी पर तीखा हमला बोला। इसके बाद सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के करीबी सपा नेता पूर्व चेयरमैन हमीद खान के बकेवर स्थित आवास पर उनसे मिलने पहुंचे.