रायपुर. सोशल मीडिया (Social Media) पर फर्जीवाड़ा करने वाले और फेक अकाउंट बनाकर लोगों को गुमराह करने वालों के खिलाफ छत्तीसगढ़ पुलिस सख्ती बरत रही है. राजधानी रायपुर में पुलिस ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है, जो फेसबुक (Facebook) पर लड़कियों के नाम से फेक एकाउंट बनाकर लोगों को गुमराह कर रहा था. इतना ही नहीं वो लड़कियों के नाम से बनाए गए फेक एकाउंट से धार्मिक उन्माद फैलाने का काम कर रहा था. पुलिस ने आईपी एड्रेस से जब पता लगाया तो उसके भी होश उड़ गए.

रायपुर पुलिस ने इंजीयरिंग के स्टूडेंट रवि पुजार द्वारा निशा जिंदल (Nisha Jindal) के नाम से फेक एकाउंट ऑपरेट कर रहा था. युवक 2009 में इंजीनियरिंग में दाखिला लिया था, लेकिन अब तक कोर्स पास नहीं कर पाया है. सीएम भूपेश बघेल ने इस मामले में रायपुर पुलिस को बधाई दी है और ट्वीट कर लिखा- किसी भी ऐसे सख्श को बख्शा नहीं जाएगा.
10 हजार से अधिक फॉलोवर
दरअसल पूरा मामला सोशल मीडिया में फेसबुक पर एक युवती के नाम पर फर्जी आईडी बनाकर धार्मिक उन्माद फैलाने और साथ ही गलत जानकारियां पोस्ट करने का है. पुलिस को इस बात की शिकायत मिली थी, जिसके आधार पर साइबर सेल और कबीर नगर पुलिस की टीम ने जांच की तब यह खुलासा हुआ कि जिस निशा जिंदल के नाम से शिकायत की गई है, उसकी जांच करने पर रवि पुजार नाम के युवक द्वारा उसे ऑपरेट करने की जानकारी मिली.

आरोपी युवक फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाकर कई सालों से ऑपरेट कर रहा था. पुलिस ने आरोपी युवक रवि पुजार को बीते शुक्रवार की शाम गिरफ्तार किया था. आरोपी के अधिकांश पोस्ट में धार्मिक सौहार्द्र बिगाड़ने की कोशिश होती थी. यह युवक कबीर नगर इलाके में रहता है और 2009 से इंजीनियरिंग मैं आईटी की पढ़ाई कर रहा है, लेकिन आज तक पास नहीं हुआ है. आरोपी के फेसबुक पर नामी गिरामी लोगों के साथ दोस्ती है. बल्कि 10,000 से अधिक फॉलोवर भी हैं.