अयोध्या । यूपी के अयोध्या में पांच अगस्त को भगवान श्री राम मंदिर के निर्माण के लिये हुये भूमि पूजन के बाद से मंदिर के लिये दान और चंदे की राशि में तेजी आई है। हालांकि चंदा पहले से ही मिल रहा था लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्धारा भूमि पूजन के बाद से इसमें तेजी आ गई है। मंदिर निर्माण के लिये पांच लाख तक की रकम सीधे ऑनलाईन खाते में जा रही है। लोग चांदी और सोना भी दान में दे रहे हैं लेकिन उनसे ऐसा नहीं करने का आग्रह किया गया है क्योंकि इन्हें सुरक्षित रखने की बड़ी समस्या होगी। एक लाख तक का चंदा देने वालों की बहुत बड़ी संख्या है। रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष ने खुद सवा लाख रुपये का चंदा दिया है। इसके अलावा पटना के हनुमान मंदिर ट्रस्ट पहले ही दस करोड़ रुपये देने की घोषणा कर चुका है। इसमें दो करोड़ की रकम पहले ही दी जा चुकी है। हरिद्धार और हरियाणा के संतों ने भी 56 लाख रुपये चंदे के रूप में दिये हैं। इसके अलावा बड़ी संख्या में विदेशों में रह रहे राम भक्तों ने भी बड़ी राशि दी है। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि मंदिर को भव्य बनाने में पैसे की कोई कमी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि एक क्विंटल से ज्यादा चांदी जमा हो गई है। इसके अलावा सोना भी है। दानदाताओं से आग्रह किया गया है कि सोना या चांदी भेंट में नहीं दे बल्कि मंदिर के लिये सीधे खाते में ही रकम जमा कर दें।