अमेरिका | अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए प्रचार अपने चरम पर है. प्रत्याशी एक-दूसरे पर जमकर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं. इसी बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया है कि नए दस्तावेजों से खुलासा हुआ है कि रूस ने 2016 में राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन की तरफ से चुनाव में दखल दिया था.
दरअसल, साल 2016 के राष्ट्रपति चुनाव के दौरान रूस का कथित दखल राष्ट्रपति के तौर पर ट्रंप के कार्यकाल के शुरूआती तीन साल के दौरान विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के लिए सबसे बड़े मुद्दों में शामिल था. डेमोक्रेटिक पार्टी का आरोप था कि रूस ने राष्ट्रपति चुनाव में रिपल्बिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के लिए दखलअंदाजी की थी.
डोनाल्ड ट्रंप ने वर्जीनिया के न्यूपोर्ट में रिपब्लिकन पार्टी की चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, 'मैंने चार साल तक ये आरोप झेले. मैं साफ कर दूं कि मैंने कभी ऐसा नहीं किया. चार साल तक मुझपर जो आरोप लगाए गए वे उलट साबित हुए. रूस ने उनके लिए चुनाव में दखल दिया था.'
ट्रंप ने दावा किया है कि नए दस्तावेजों में साबित हो चुका है कि रूस ने 2016 के चुनाव में हस्तक्षेप किया था. दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि ऐसा हिलेरी क्लिंटन के कहने पर किया गया, न कि ट्रंप के कहने पर. 
ट्रंप ने यह भी दावा किया है कि हाल ही में जारी किए गए लिखित संदेशों से सब कुछ बिल्कुल साफ हो गया है. एफबीआई जानती थी कि डेमोक्रेटिक पार्टी ने मुझे निशाना बनाने के लिए रूस से गलत जानकारी मांगी थी.