अगर आप खाना खाने से पहले सलाद खाते हैं तो यह बेहद लाभदायक होता है। अगर आप सलाद नहीं खाते तो शुरु कर दें क्योंकि कई बार खाने के साथ ही हमारे खून में कुछ ऐसे तत्व भी पहुंच जाते हैं जो शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं। ऐसे में बीमारियों से बचने के लिए जरूरी है शरीर के अंदर मौजूद ये विकार बाहर निकलते रहें। यह विकार अगर जमा होने लगते हैं तो धीरे-धीरे जहर की तरह हो जाते हैं। डॉक्टरों के अनुसार खून साफ न हो तो फोड़े-फुंसी, मुंहासे और त्वचा रोगों जैसी कई बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए खून साफ रखने के लिए ये तरीके अपनायें। 
खाने से पहले सलाद खाएं
अपने आहार की शुरुआत से पहले अच्छी मात्रा में हरी सब्जियों का सलाद या रंगीन सब्जियों का मिक्स सलाद खाएं। सलाद ऐंटिऑक्सिडेंट्स और एंजाइम्स से भरपूर होता है, जो पाचन क्रिया को सही रखता है। साथ ही ये जरूरी विटमिन, मिनरल्स और कई अन्य फिटोकेमिकल्स मुहैया करवाता है। इसलिए हर बार खाने से पहले कम से कम एक कटोरी सलाद जरूर खाएं।
सबसे जरूरी चीज है पानी
अगर आप शरीर में मौजूद गंदगी को बाहर निकालना चाहते हैं, तो इसके लिए सबसे अच्छा उपाय है पानी। अगर आप पर्याप्त पानी नहीं पीते हैं, तो बहुत हेल्दी खाना खाने के बाद भी आपको कोई लाभ नहीं मिलता है और शरीर की गंदगी पूरी तरह साफ नहीं होती है। इसलिए बॉडी को डीटॉक्स करने के लिए दिन भर में कम से कम 3-4 लीटर पानी जरूर पिएं।
नींबू और संतरा
ऐंटिऑक्सिडेंट, विशेष रूप से विटमिन सी से भरपूर संतरा और नींबू ग्लूटाथियॉन के उत्पादन को बढ़ाकर लिवर के कार्य में सहायता करते हैं। ग्लूटाथियॉन वह यौगिक है जो लिवर के डिटॉक्सिफिकेशन के लिए जरूरी होता है। कुछ दिनों तक ठोस आहार के बिना नींबू पानी पीने से आपकी डीटॉक्स प्रणाली को प्राकृतिक रूप से बढ़ावा मिलता है। नींबू में पर्याप्त मात्रा में विटमिन सी और ऐंटिऑक्सिडेंट यौगिक, लिमोनोइड्स होते है जो डिटॉक्सिफाई एंजाइमों को सक्रिय करने में मदद करते हैं।
जरूरी है फलों का सेवन
पर्याप्त मात्रा में फलों का सेवन करना चाहिए। फलों में मौजूद मिनरल्स और ऐंटिऑक्सिडेंट्स खून को साफ करते हैं। ये आपके शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकालकर कोलन और लिम्फेटिक सिस्टम को सही तरह से काम करने में मदद करते हैं। अगर आप वजन कम करने का प्रयास कर रहे हों, तो फल मदद कर सकते हैं।
नट्स और अनाज का सेवन
शरीर की रक्त शर्करा को स्थिर रखने के लिए भोजन के बीच में स्वास्थ्यवर्धक आहार खाने चाहिए। रक्त शर्करा में आने वाला उतार चढ़ाव आपके शारीरिक ऊर्जा के स्तर को कम कर सकता है। इसके साथ ही इसका असर प्रतिरक्षा प्रणाली पर भी पड़ता है। ये वजन को भी ठीक करता है। रक्त शर्करा को नियंत्रित रखने और ऊर्जा का स्तर बनाए रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में नट्स, साबुत अनाज का दलिया और स्मूथी आदि का सेवन करना चाहिए।