अलीगढ़ । अपनी कार्यशैली से ऊपर से कठोर दिखने वाले जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह के अंदर एक कोमल ह्द्रय भी धड़कता है। अपने चिर-परिचित अंदाज में हर जरूरतमंद, असहाय की हरसंभव मदद करने के लिए मशहूर जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह ने आज एक बार फिर दिखा दिया कि उनका दिल कितना कोमल और मुलायम है। 
गोपाष्टमी पर्व पर नगला ओगर राजू पहुँचे जिलाधिकारी को जब मालूम हुआ कि बालिका कृष्णा और बालक युवराज के सर पर से पिता का साया उठ गया है, माता सीमा देवी जिनके पास कमाई का कोई जरिया नहीं है। स्व0 श्यामपाल सिंह जो लंबे समय से बीमार चल रहे थे, नगला ओगर राजू की गौशाला में चौकीदारी करते हुए जैसे तैसे परिवार का भरण पोषण कर रहे थे। परिवार में किसी भी सदस्य के नाम कृषि भूमि नही है। जिलाधिकारी ने इन बातों का संज्ञान लेते हुए बिना कुछ सोचे समझे दोनों बच्चों को 1 लाख रुपयों की आर्थिक सहायता और विभिन्न शासकीय लाभ दिलाये जाने की घोषणा करते हुए कहा कि जब तक बच्चे बालिग नही हो जाते तहसीलदार गभाना इनके संरक्षक बने रहेंगे। 
गोपाष्टमी के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप मे पहुँचे क्षेत्रीय विधायक ठा0 दलवीर सिंह ने जिलाधिकारी के इस दयालुता भरे कार्य भी जी भर प्रशंसा करते हुए कहा कि डीएम ने आज जो कार्य किया है इस कार्य का पुण्य किसी न किसी रूप में उनको अवश्य प्राप्त होगा। उन्होंने बच्चों की मदद कर साबित कर दिया कि वह एक जिलाधिकारी ही नही बल्कि अलीगढ़ के राजा भी हैं। इस दौरान सीडीओ अनुनय झा, एस डी एम प्रवीण कुमार, तहसीलदार रेशमा सहाय भी उपस्थित रहे।