भारत और खास कर पंजाब में दुश्मन देश पाकिस्तान अपने स्लीपर्स सेल एक्टिव करके यहां से खुफिया जानकारियां हासिल करने की कोशिश कर रहा है। इस समय देश में स्लीपर सेल एक्टिव भी हैं, जो नौजवानों को पैसों का लालच देकर देश की खुफिया जानकारियां पाकिस्तान पहुंचा रहे हैं।
करतारपुर कॉरिडोर के चल रहे निर्माण कार्य और तिब्बड़ी छावनी की फोटो भेजने वाले विपिन सिंह निवासी पुल तिब्बड़ी गुरदासपुर से पूछताछ के बाद वीरवार देर शाम उसे गुरदासपुर पुलिस के हवाले कर दिया गया। सूत्रों के अनुसार, विपिन सिंह जून 2018 में पाकिस्तान की तरफ से कॉल आने के बाद वहां के संपर्क में आया। उसने 10 लाख रुपये लेकर पाकिस्तान के एक मोबाइल नंबर पर कुछ चित्र भेजे थे और वहां बात करने के लिए वायस कॉल का भी उपयोग किया था।
पूछताछ के दौरान जासूस ने बताया कि जनवरी-फरवरी 2019 में वह कई बार जम्मू-कश्मीर निवासी एक हैंडलर से पठानकोट में मिला और उससे डेढ़ लाख रुपये नगद लिए। 1.50 लाख रुपये की राशि सोमवार को मिलनी थी।। विपिन सिंह से सभी टीएमएस गेट्स की तस्वीरें, कुछ स्थानों पर टीएमएस बाउंड्री वॉल की तस्वीरें, परिवार के क्वार्टर की तस्वीरें, शापिंग कांप्लेक्स की तस्वीरें, 172 एमएच की तस्वीरें, वर्दी और कंधे के शीर्षक की तस्वीरें भेजने के लिए कहा गया था।

देर शाम आर्मी की तरफ से जासूस विपिन सिंह को पुलिस के हवाले कर दिया गया है। मामले में कार्रवाई चल रही है। जांच करने के बाद और लिखित में आने के बाद उस पर मामला दर्ज किया जाएगा।