आईपीएल 2019 के लिए सबसे महंगे बिके वरुण चक्रवर्ती के डेब्यू का पहला ओवर बेहद निराशाजनक रहा. किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान आर. अश्विन ने ईडन गार्डन्स पर दूसरे छोर से इस नए गेंदबाज से आक्रमण की शुरुआत कराई, लेकिन आगे जो भी हुआ उसे यह लेग स्पिनर कभी याद नहीं करना चाहेगा.

सुनील नरेन ने कर दिया बुरा हाल

दरअसल, उस एक ओवर में वरुण चक्रवर्ती ने 25 रन लुटाए. कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से पारी की शुरुआत करने आए सुनील नरेन ने वरुण चक्रवर्ती की पांच गेंदों पर 24 रन ठोक डाले, जिनमें उनके 3 छक्के शामिल रहे.

TNPL में भी इतनी बेरहमी से नहीं पिटे थे

वरुण चक्रवर्ती अपने छोटे से क्रिकेट करियर में पहली बार इतनी बरहमी पिटे. तमिलनाडु प्रीमियर लीग (TNPL) में भी उनका ये हश्र नहीं हुआ था. इस लीग में उनकी सबसे महंगी गेंदबाजी 4 ओवर में 28 रन है. लेकिन उन्हें आईपीएल के एक ही ओवर में 25 रन देने पड़ गए.

... लेकिन अश्विन ने कायम रखा भरोसा

कप्तान अश्विन ने वरुण चक्रवर्ती पर अपना विश्वास बनाए रखा. उन्हें दोबारा 7वें ओवर में लाया गया. उनके उस ओवर में 2 चौके समेत 9 रन बने. उन्हें फिर आक्रमण से हटाया गया. इसके बाद उन्हें एक और मौका मिला. 15वें ओवर में तो उन्होंने कमाल कर दिखाया.

नीतीश राणा वरुण चक्रवर्ती के पहले शिकार

वरुण चक्रवर्ती ने हार नहीं मानी और जोरदार बल्लेबाजी कर रहे नीतीश राणा (63 रन, 34 गेंद, 7 छक्के, 2 चौके) को मयंक अग्रवाल के हाथों कैच करा दिया और आईपीएल का अपना पहला विकेट हासिल किया और इस ओवर में महज एक रन (0 0 W 0 0 1) खर्च कर अपना 'ड्रीम' विकेट निकाला. आखिरकार मैच में उनका गेंदबाजी विश्लेषण रहा- 3-0-35-1.

2019 के लिए नीलामी में उनादकट के साथ सबसे महंगे

27 साल के तमिलनाडु के लेग स्पिनर वरुण चक्रवर्ती ने आईपीएल 2019 के लिए नीलामी में धूम मचा दी थी, जब इस 'मिस्ट्री स्पिनर' पर मोटी बोली लगी. उन्हें किंग्स इलेवन पंजाब ने 8.40 करोड़ रुपये में खरीदा. उनका बेस प्राइस महज 20 लाख रुपये था. उधर, तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट पर भी 8.40 करोड़ रुपये की बोली लगी थी, जिन पर राजस्थान रॉयल्स ने दांव खेला.

वरुण चक्रवर्ती ने तमिलनाडु की तरफ से अब तक एक ही फर्स्ट क्लास मैच खेला है. इसी साल नवंबर में हैदराबाद के खिलाफ पहले मैच में उन्हें एक ही सफलता मिली. इसके अलावा उन्होंने लिस्ट-ए (घरेलू वनडे) के 9 मैच खेले हैं. जिसमें उन्होंने 22 विकेट निकाले हैं.

वरुण चक्रवर्ती ने 13 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया, और 17 की उम्र तक विकेटकीपर-बल्लेबाज रहे. एज ग्रुप क्रिकेट में कई बार खारिज कर दिए गए. बाद में उन्होंने खेलना ही छोड़ दिया और चेन्नई में एसआरएम विश्वविद्यालय से वास्तुकला (Architecture) में डिग्री हासिल की.

पांच साल का पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद वरुण ने एक फ्रीलांस आर्किटेक्ट के रूप में काम शुरू किया. लेकिन उन पर टेनिस बॉल क्रिकेट खेलने का जुनून फिर से सवार हो गया. इसलिए उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी और सीम-बॉलिंग ऑलराउंडर के रूप में क्रॉमबेस्ट क्रिकेट क्लब में शामिल हो गए.

लेकिन, दूसरे ही मैच के दौरान उन्हें घुटने में चोट लगी और इसके बाद उन्होंने स्पिनर बनने का मन बना लिया. 18 गज की पिचों पर टेनिस बॉल क्रिकेट में वरुण ने अपने प्रदर्शन से खुद को एक मिस्ट्री स्पिनर के तौर पर तब्दील कर लिया.

वरुण का दावा है कि उनकी गेंदबाजी में 7 विविधताएं हैं-

-ऑफब्रेक, लेगब्रेक, गुगली, कैरम बॉल, फ्लिपर, टॉपस्पिन, पैर की उंगलियों पर यॉर्कर.

तमिलनाडु प्रीमियर लीग 2018 (टीएनपीएल ) में उन्होंने अपनी स्पिन गेंदबाजी के सहारे सिचम मदुरै पैंथर्स को पहला खिताब दिलाने में अहम भूमिका निभाई. वह चेन्नई सुपर किंग्स को नेट पर गेंदबाजी कर चुके हैं. उन्होंने 2018 सीजन में सीएसके के साथ चार दिन बिताए थे. इसी के बाद फ्रेंचाइजी का घरेलू मैदान चेन्नई से पुणे में ले जाया गया था. इसी के लगभग दो हफ्ते बाद कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान दिनेश कार्तिक और टीम के विश्लेषक एआर श्रीकांत ने वरुण को केकेआर के नेट पर गेंदबाजी करने के लिए बुलाया था.

वरुण चक्रवर्ती

TNPL 2018 में

विकेट - 9

बेस्ट - 3/16

इकोनॉमी - 4.70

विजय हजारे ट्रॉफी 2018/19

विकेट - 22

बेस्ट - 5/38

औसत - 16.68