उन्नाव । भीमआर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने उन्नाव के असोहा गांव में पिछले दिनों दो दलित लड़कियों की मौत के मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। चंद्रशेखर ने पिछले 17 फरवरी को असोहा गांव में एक खेत में दो लड़कियों के मृत और एक लड़की के बेसुध पाए जाने के मामले में पुलिस द्वारा किए गए खुलासे पर सवाल उठाते हुए इस मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की। उन्होंने कहा कि इससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। 
घटना में बेहोश मिली लड़की का हाल लेने के लिए कानपुर स्थित अस्पताल जाते वक्त रास्ते में उन्नाव के सोहरामऊ इलाके में भीम आर्मी प्रमुख ने आरोप लगाया कि उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार और उसकी पुलिस पर भरोसा नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ न तो कानून-व्यवस्था सुधार पा रहे हैं और न पीड़ित परिवार को न्याय दिला पा रहे हैं। 
चंद्रशेखर ने सवाल किया कि क्या मुख्यमंत्री का फर्ज नहीं बनता कि वह पीड़ित परिवार से आकर मुलाकात करें? गौरतलब है कि उन्नाव जिले के असोहा थाना क्षेत्र स्थित बबुरहा गांव में पिछली 17 फरवरी को खेत से चारा काटने गई तीन लड़कियां संदिग्ध परिस्थितियों में बेहोश पाई गई थी। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उनमें से दो को मृत घोषित कर दिया था। तीसरी लड़की को कानपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत सुधर रही है। पुलिस ने 19 फरवरी को इस मामले में आरोपी विनय कुमार तथा उसके एक नाबालिग साथी को गिरफ्तार कर मामले के खुलासे का दावा किया था। पुलिस के मुताबिक विनय ने इस घटना को एकतरफा प्रेम की वजह से अंजाम दी थी।