नई दिल्ली : ग्रेटर नोएडा के जिम्स में एक नई सुविधा शुरू हो गई है. नई सुविधा के तहत कोरोना मरीज एसी रूम बुक कर सकेंगे. संस्थान में अभी 35 कमरों में 50 मरीज भर्ती किए जा सकेंगे. कमरों में शौचालय और एसी की भी सुविधा होगी. सिंगल बेड वाले रूम के लिए 3000 और डबल बेड वाले रूम के लिए 2 हजार रुपये प्रतिदिन के हिसाब से शुल्क देना होगा. आईसीयू शुल्क अभी तय नहीं किया गया है.
इसकी 5000 रुपये से अधिक होने की संभावना है. प्राइवेट कमरों को तीसरे और चौथे फ्लोर पर बनाया गया है. जिम्स के निदेशक ब्रिगेडियर डा. आर के गुप्ता का कहना है कि 90 फीसदी तैयारी पूरी है. यह नए कमरे अस्पताल में मौजूद 250 कमरों के अतिरिक्त है.
डा. गुप्ता का कहना है कि कमरों में शौचालय और एसी की भी सुविधा होगी. इससे मरीजों को बाहर नहीं निकलना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि हम क्वलिटी सुविधाएं वाजिब कीमत पर मुहैया करा रहे हैं. बीते कुछ दिनों में कई बार मरीजों ने ऐसी सुविधाओं की जानकारी ली थी और इसके लिए शुल्क अदा करने की इच्छा जताई थी. गुप्ता ने कहा कि कमरे के शुल्क में ट्रीटमेंट जिसमें बेसिक मेडिसिन जैसे कि एचसीक्यू, रुटीन एंटीबायोटिक्स, खाना आदि शामिल है. एक्सपेरीमेंटल थेरेपी के लिए शुल्क अलग से अदा करना होगा. 
सरकारी सहायता के अलावा संस्थान ने तीन महीनों में लगभग 3 करोड़ रुपये खर्च किए हैं.  अस्पताल से 520 से ज्यादा मरीजों को ठीक होने पर डिस्चार्ज किया जा चुका है. अब 100 बेड और बढ़ाने की कवायद चल रही है. इसके अलावा अस्पताल में 20 वेंटिलेटर भी हैं. डा. गुप्ता का कहना है कि अगर हम कुछ रेवेन्यू जनरेट कर सकें तो हम अपने स्टॉफ को इंसेटिव दे सकेंगे. हमारे पास पैसे की लगातार कमी हो रही है ऐसे में हम एनजीओ से मास्क और ऑक्सीजन सपोर्ट की उम्मीद करते हैं.