नई दिल्ली । केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, कोरोना वायरस बीमारी कोविड-19 के खिलाफ टीका लेने वाले स्वास्थ्य सेवा और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं की संख्या शनिवार शाम 80 लाख तक पहुंच गई। जिन लोगों ने पहला शॉट लेने के बाद दिन की अवधि पूरी की, उन्होंने दूसरी खुराक लेना शुरू कर दिय 1,69,215 सत्रों के माध्यम से 80,52,454 लाभार्थियों को टीका लगाया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को एक बयान में कहा कि इनमें 59,35,275 हेल्थ केयर वर्कर्स और 21,17,179 फ्रंट लाइन वर्कर्शा मिल हैं। जम्मू और कश्मीर, पश्चिम बंगाल, गुजरात, झारखंड, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, बिहार, उत्तराखंड, त्रिपुरा और दिल्ली उन 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में शामिल हैं, जहां अब तक सबसे अधिक टीकाकरण रिकॉर्ड किया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों - बिहार, लक्षद्वीप, त्रिपुरा, ओडिशा, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़, केरल, राजस्थान, मिजोरम और सिक्किम ने 70% से अधिक पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण किया है।  मंत्रालय ने कहा कि टीकाकरण के बाद, अब तक कुल 34 लोग अस्पताल में भर्ती हुए हैं। अस्पताल में भर्ती होने के 34 मामलों में से 21 को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई, जबकि 11 लोगों की मौत हो गई और दो का इलाज चल रहा है। पिछले 24 घंटों में, कोई भी व्यक्ति अस्पताल में भर्ती नहीं हुआ है। टीकाकरण के बाद अब तक 27 मौतें दर्ज की गई हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, इनमें से 11 व्यक्तियों की अस्पताल में मौत हो गई, जबकि 16 की मौत बाहर हुई है।