भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना की रिकवरी रेट तेजी से बढ़ रही है, जो अब 82.5 प्रतिशत हो गई है। इससे कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या में निरंतर कमी आ रही है। गत 4 दिनों में प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीज 2000 कम हुए हैं। वहीं मृत्यु दर में तेजी से गिरावट आ रही है। गत 15 दिनों की प्रदेश की मृत्यु दर एक प्रतिशत है, जबकि औसत मृत्यु दर 1.08 प्रतिशत है। प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना की स्थिति में निरंतर सुधार हो रहा है। प्रदेश के सभी कोविड अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में बैड्स उपलब्ध है तथा ऑक्सीजन तथा अन्य चिकित्सा सामग्री भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, डी.जी.पी. श्री विवेक जौहरी, आयुक्त जनसंपर्क श्री सुदाम खाड़े आदि उपस्थित थे।

20473 एक्टिव मरीज, एक दिन में 2545 स्वस्थ हुए

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में वर्तमान में 20 हजार 473 कोरोना के एक्टिव मरीज हैं। गत दिवस की तुलना में प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या में 524 की कमी आई है। कोरोना के नए मरीज 2041 पाए गए हैं, जबकि 2545 मरीज स्वस्थ हुए हैं।

60 प्रतिशत मरीज होम आइसोलेशन में

होम आइसोलेशन के प्रति लोगों की रूचि बढ़ रही है, प्रदेश में कोरोना के कुल मरीजों में 60 प्रतिशत मरीज होम आइसोलेशन में है। प्रत्येक जिले में 'कमांड एण्ड कंट्रोल सेंटर्स' के माध्यम से 'होम आइसोलेशन' के मरीजों की निरंतर मॉनीटरिंग की जा रही है। कुछ जिलों में निजी चिकित्सक एवं चिकित्सालय भी होम आइसोलेशन वाले मरीजों की मॉनीटरिंग के लिए आगे आए हैं।

क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप से निरंतर संवाद करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि सभी जिलों में कलेक्टर्स 'क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप' के सदस्यों से निरंतर संवाद रखें तथा जनता के पूरे सहयोग से कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के हरसंभव प्रयास करें।

दुर्गा उत्सव की नई गाइडलाइन तैयार करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गृह विभाग को निर्देश दिए कि दुर्गा उत्सव की नई गाइडलाइन तैयार कर जारी करें। गाइडलाइन के अंतर्गत पांडालों का आकार, दुर्गा प्रतिमाओं की ऊँचाई, चल समारोह का स्वरूप आदि के संबंध में स्पष्ट निर्देश जारी करें। व्यवस्था ऐसी हो जिससे किसी भी हालत में कोरोना संक्रमण न फैले।

निगेटिव होने के बाद भी एक सप्ताह तक 'आइसोलेशन' में रहें

मुख्यमंत्री ने कहा कि कई प्रकरणों में कोरोना मरीज निगेटिव होने के बाद भी दोबारा पॉजीटिव हो गए हैं। अत: इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि कोरोना निगेटिव होने के बाद भी एक सप्ताह तक कोरोना के मरीज अनिवार्य रूप से 'होम आइसोलेशन' में रहें। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को 'पोस्ट कोविड केयर' गाइड लाइन जारी करने के निर्देश भी दिए।

सभी जिलों की स्थिति में सुधार

जिलावार समीक्षा में पाया गया कि प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना की स्थिति सुधर रही है। लगभग सभी जिलों में कोरोना की ग्रोथ रेट में उल्लेखनीय कमी आई है। इंदौर की कोरोना ग्रोथ रेट 2.04, भोपाल की 1.51, जबलपुर की 2.10, ग्वालियर की 1.16 प्रतिशत तथा सागर की 2.10 प्रतिशत है। वहीं उज्जैन जिले की कोरोना ग्रोथ रेट 1.05 प्रतिशत तथा खरगौन की 1.38 प्रतिशत है।