भोपाल : राज्यपाल तथा कुलाधिपति श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि विश्वविद्यालय पाठ्यक्रम में रोजगार क्षमता सहायता के लिए मजबूत वातावरण तैयार करें। अप्रेंटिसशिप और इंटर्नशिप कार्यक्रमों को डिग्री कोर्स में शामिल किया जाए। राज्यपाल श्रीमती पटेल आज जीवाजी विश्वविद्यालय के नवनिर्मित अटल बिहारी वाजपेई इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर के लोकार्पण कार्यक्रम को ऑनलाइन राजभवन लखनऊ से संबोधित कर रही थी। श्रीमती पटेल ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर उनका हार्दिक स्मरण भी किया। राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि विश्वविद्यालय विद्यार्थियों को आत्मनिर्भरता का सामर्थ्य संस्कार और शिक्षा दें। उन्होंने कहा कि कन्वेंशन सेंटर का निर्माण न्यू इंडिया के विजन, विश्व स्तरीय आधारभूत संरचना द्वारा आर्थिक प्रगति, समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और पर्यावरण संरक्षण के संकल्प को बताता है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि सेंटर छात्र-छात्राओं और अंचल के युवाओं की रचनात्मक प्रतिभा के प्रदर्शन का मंच बन लोक कला संस्कृति व्यवसाय और ज्ञान विज्ञान के विकास में सहयोगी होगा।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने लोकार्पण कार्यक्रम में डिजीटल आधार पर भोपाल से सहभागिता की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के जन्मदिवस अवसर पर छात्र-छात्राओं को प्रोत्साहन देने उनका हौसला बढ़ाने और उनमें प्रतिस्पर्धी भाव उत्पन्न करने के लिए राज्य शासन द्वारा प्रतिभा प्रोत्साहन योजना पुन: आरंभ की है। अटल बिहारी वाजपेयी इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर भी इस दिशा में एक कदम है। मध्यप्रदेश सरकार सदैव विद्यार्थियों के साथ है। लक्ष्य प्राप्ति में छात्र-छात्राओं का सहयोग राज्य शासन का दायित्व है। कन्वेंशन सेंटर से ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के युवाओं को विश्व स्तरीय सुविधा तथा नए अवसर मिलेंगे। अब हमारा लक्ष्य होना चाहिए कि देश की प्रथम सौ विश्वविद्यालयों में यह विश्वविद्यालय भी सम्मिलित हो। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विद्यार्थियों को पंडित दीनदयाल उपाध्याय और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के संघर्षपूर्ण जीवन से प्रेरणा लेकर उनके संगठन कौशल को ग्रहण कर सशक्त और आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश व भारत के निर्माण के लिए प्रेरित किया। श्री चौहान ने कहा कि यह सौभाग्य की बात है कि इस सेंटर का नाम स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर है। उन्होंने कन्वेंशन सेंटर के लोकार्पण के लिए बधाई और शुभकामनाएँ दी।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि यह कन्वेंशन सेंटर विश्वविद्यालय के साथ-साथ ग्वालियर के लिए भी बड़ी उपलब्धि है। राज्य सभा सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ऑनलाइन सहभागिता करते हुए कहा कि इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर से जीवाजी विश्वविद्यालय का नाम विश्व पटल पर आएगा। उच्च शिक्षा मंत्री श्री मोहन यादव ने भी बधाई प्रेषित की। कार्यक्रम में ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण तथा नर्मदा घाटी विकास मंत्री श्री भारत सिंह कुशवाह, सांसद श्री विवेक शेजवलकर तथा पूर्व विधायक श्री मुन्नालाल गोयल उपस्थित थे।