भोपाल । शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार के बाद कांग्रेस को एक और जोर का झटका लगा है। मंत्रिमंडल विस्तार के बाद बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में भारी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता, नेता और पदाधिकारी बीजेपी में शामिल हो गए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान,  ज्योतिरादित्य सिंधिया और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा की मौजूदगी में इन सभी ने भाजपा की सदस्यता ली। कांग्रेस के जो नेता भाजपा में शामिल हुए हैं, उनमें 30 से ज्यादा जिलों के कांग्रेस पदाधिकारी शामिल हैं। उन्होंने 2 पूर्व मंत्री, 8 पूर्व विधायकों के साथ सिंधिया के सामने भाजपा का दामन थाम लिया। वहीं, 5 जिलाध्यक्ष, 9 कार्यकारी जिलाध्यक्ष भी बीजेपी में शामिल हो गए। कांग्रेस के 15 महामंत्री भी बीजेपी के साथ आ गए हैं।
भाजपा में टिकट न मिलने से नाराज होकर कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया फिर भाजपा में लौट आए हैं। इसके साथ ही पूर्व मंत्री रघुवीर सिंह सूर्यवंशी भी भाजपा में शामिल हो गए। पूर्व विधायक गजराम सिंह यादव, राव राजकुमार सिंह यादव, जगन्नाथ सिंह रघुवंशी, गनपत पटेल, केदार मंडलोई, अजीत सिंह, बृजेन्द्र सिंह मालाहेडा, राजेन्द्र भारती कांग्रेस छोड़ भाजपा की सदस्यता ले चुके हैं।

ये नेता-पदाधिकारी भी भाजपा के हुए
पिछले विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी रहे शशि केथोरिया, के के सिंह कालूहेडा,  समंदर पटेल, गिरीश पटेल, ज्ञानवती,  हरिशंकर चौधरी, अनुराग वर्धन हजारी, मोहन सेंगर, प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह गौतम सहित 15 महामंत्री, 13 प्रदेश सचिव भाजपा में शामिल हो गए। प्रदेश युवक कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष पवन जायसवाल, 5 जिलाध्यक्ष, 9 कार्यकारी जिलाध्यक्षों ने भी बीजेपी की सदस्यता ले ली। प्रदेश प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी, शाहवर आलम, मिनेंद्र डागा, राजेन्द्र ठाकुर, चंदेरी नगर पालिका अध्यक्ष उषा साद, शाजापुर नगर पालिका अध्यक्ष शीतल क्षितिज भट्ट सहित जनपद पंचायत अध्यक्ष सहित 30 से अधिक जिलों के कांग्रेस पदाधिकारी अब बीजेपी में शामिल हो गए हैं